ऊपर से जेनरेटर तथा अंदर से शराब की पूरी टंकी,पुलिस केउड़े होश

ऊपर से जेनरेटर तथा अंदर से शराब की पूरी टंकी,पुलिस केउड़े होश

पटना: शराबबंदी के बाद बिहार में स्मगलर लगातार नए-नए ढंग ईजाद करके तस्करी करने में लगे हैं. जिसमें स्वयं के शरीर को शराब टंकी बनाने से लेकर मोटरसाइकिल की टंकी में शराब की सप्लाई करते हैं. ताजा मामला जेनरेटर से संबंधित है, जो बिजली बनाने के जगह पर शराब उगल रहा है.

घटना कैमूर जिले के दुर्गावती टोल प्लाजा के नजदीक मुसहरी टोली के पास की बताई जा रही है. जहां पुलिस ने कार्रवाई के चलते डीसीएम ट्रक के ऊपर रखे डीसी जेनरेटर की तलाशी ली. तत्पश्चात, पुलिस के होश उड़ गए. ऊपर से जेनरेटर तथा अंदर से शराब की पूरी टंकी. जी हां, डीसीएम ट्रक के भीतर लदे जेनरेटर में भारी मात्रा में विदेशी शराब की बरामदगी हुई.  

वही पुलिस ने ट्रक के ड्राइवर को अरैस्ट कर लिया है. शराब को दिल्ली से बिहार के मुजफ्फरपुर भेजा जा रहा था. इसी के चलते पुलिस ने तहकीकात के चलते उसे पकड़ा. अरैस्ट ड्राइवर विकास कुमार सैदपुर गांव थाना भोजपुर जिला गाजियाबाद (उत्तर प्रदेश) का बताया जा रहा है. अरैस्ट क्रिमिनल ने बताया कि शराब को दिल्ली से DCM ट्रक में लोड कर मुजफ्फरपुर ले जा रहा था तथा उसे एक चक्कर लगाने के 10000 रुपए मिलते थे. वही सबसे बड़ी बात है कि शराब तस्कर होम अप्लाएंसेज तहा शेष सामग्री फ्रीज, टीवी के साथ जेनरेटर सहित घरेलू सामानों की डिलीवरी करते हैं, उन्हीं के भीतर शराब भरी होती है. जो दिल्ली से डायरेक्ट मुजफ्फरपुर भेजी जाती है. पुलिस क्रिमिनल ड्राइवर से और जानकारी निकाल रही है. पुलिस के अनुसार, दिल्ली से वाराणसी होते हुए कैमूर तथा उसके बाद ये लोग मुजफ्फरपुर मतलब उत्तरी बिहार के कई शहरों में अपनी सप्लाई करते हैं. ड्राइवर को प्रति ट्रिप के 10000 रुपये भुगतान किए जाते हैं. इस सिलसिले में थानाध्यक्ष राजीव रंजन सिंह ने बताया कि टोल प्लाजा के पास से वाहन जांच के दौरान AMTF की टीम तथा दुर्गावती पुलिस ने कार्यवाही करते हुए डीसीएम ट्रक से भारी मात्रा में शराब बरामद की है.


कोल्ड ड्रिंक में मिली मरी हुई छिपकली

कोल्ड ड्रिंक में मिली मरी हुई छिपकली

गुजरात के महानगर अहमदाबाद में कोल्ड ड्रिंक के ऑर्डर देने पर उसमें एक ग्राहक को मरी हुई छिपकली मिली. इसके बाद इस ग्राहक ने इसकी कम्पलेन खाद्य सुरक्षा ऑफिसरों से की. अहमदाबाद नगर निगम ने शनिवार को सोला में मैकडॉनल्ड्स के आउटलेट को सील कर दिया. एएमसी खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने एक कस्टमर की कम्पलेन पर यह कदम उठाया. मीडिया रिपोट्र्स के अनुसार, अहमदाबाद नगर निगम ने निर्देश दिया कि आउटलेट को उसकी पूर्व अनुमति के बिना अपने परिसर को फिर से खोलने की अनुमति नहीं है.

दरअसल, भार्गव जोशी नाम के एक कस्टमर ने शनिवार को अपनी कोल्ड ड्रिंक में छिपकली तैरते हुए का वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किया था. भार्गव जोशी और उनके दोस्तों का आरोप है कि वे सोला में मैकडॉनल्ड्स के आउटलेट पर 4 घंटे से अधिक समय तक बैठे रहे क्योंकि उन्होंने उनकी कम्पलेन पर ध्यान देने के लिए किसी की प्रतीक्षा की. वे कहते हैं कि कर्मचारियों ने उन्हें 300 रुपये की वापसी की पेशकश की. भार्गव जोशी ने सील किए गए आउटलेट की एक तस्वीर साझा की और अच्छे काम के लिए एएमसी की सराहना की.
मैकडॉनल्ड्स ने कही ये बात
इस बीच, मैकडॉनल्ड्स का बयान भी सामने आया है. जिसमें बोला गया, मैकडॉनल्ड्स में, हम अपने सभी ग्राहकों की सुरक्षा और स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. गुणवत्ता, सेवा, स्वच्छता और मूल्य हमारे व्यवसाय संचालन के मूल में हैं. इसके अलावा, हमारे गोल्डन गारंटी कार्यक्रम के हिस्से के रूप में, हमने अपने सभी मैकडॉनल्ड्स रेस्तरां में 42 कठोर सुरक्षा और स्वच्छता प्रोटोकॉल लागू किए हैं, जिसमें नियमित रूप से रसोई और रेस्तरां की सफाई और स्वच्छता के लिए कठोर प्रक्रियाएं शामिल हैं. हम इस घटना की जांच कर रहे हैं जो कथित तौर पर अहमदाबाद आउटलेट पर हुई थी. जबकि हमने बार-बार जांच की है और कुछ भी गलत नहीं पाया है, हम एक अच्छे कॉर्पोरेट नागरिक होने के नाते ऑफिसरों के साथ योगदान कर रहे हैं.