विराट कोहली ने तेजी से की थी पोंटिंग की बराबरी

 विराट कोहली ने तेजी से की थी पोंटिंग की बराबरी

भारतीय कैप्टन विराट कोहली (Virat Kohli) को सिर्फ शतक की आवश्यकता है व अगर आज व‌ह ऐसा कर देते हैं तो वह बरसों पुराना एक वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ देंगे। बतौर कैप्टन इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज बनने से कोहली सिर्फ एक शतक ही दूर हैं।

वैसे तो पूर्व ऑस्ट्रेलिया कैप्टन रिकी पोंटिंग बतौर कैप्टन 41 शतकों के साथ इस रिकॉर्ड को अपने नाम किए हुए हैं। पिछले वर्ष ही कोहली ने बांग्लादेश के विरूद्ध ऐतिहासिक मुकाबले में शतक जड़कर पॉन्टिंग के रिकॉर्ड की बराबरी की थी। इनके बाद बतौर कैप्टन 33 इंटरनेशनल शतकों के साथ साउथ अफ्रीका महान ग्रैम स्मिथ हैं।

कोहली के पास घर में यह वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम करने का शानदार मौका है। हिंदुस्तान व ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच मंगलवार से तीन वनडे मैचों की सीरीज प्रारम्भ होगी। कोहली ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में अभी तक बतौर कैप्टन 41 शतक लगाए हैं, जिसमें से 20 टेस्ट शतक है व 21 वनडे शतक है। ‌पिछले वर्ष नवंबर में बांग्लादेश के विरूद्ध 136 रन की पारी खेलकर बतौर कैप्टन टेस्ट शतक के मुद्दे में कोहली पॉन्टिंग से आगे निकल गए थे। वहीं अगर आज वह ऑस्ट्रेलिया के विरूद्ध शतक लगा देते हैं व वह बतौर कैप्टन सबसे ज्यादा वनडे शतक लगाने के मुद्दे में भी पॉन्टिंग के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे।

भारतीय कैप्टन विराट कोहली (Virat Kohli) ने तेजी से पोंटिंग के रिकॉर्ड की बराबरी की थी। पॉन्टिंग ने 376 पारियों में 41 शतक जड़े थे, जबकि कोहली ने 196 पारियों में ही यह उपलब्धि हासिल कर ली, जहां कई बार दिखता है कि कप्तानी के वजन के प्रभाव से कुछ खिलाड़ियों का प्रदर्शन बेकार हो जाता है, वहीं कप्तानी कोहली को लाभ पहुंचा रही है। जहां कोहली की टेस्ट औसत 54.97 है, वहीं बतौर कैप्टन क्रिकेट के लंबे फॉर्मेट में उनका औसत 63.80 का भी रहा। वहीं वनडे में उनका करियर का औसत 59.84 है, जबकि बतौर कैप्टन उनका औसत 77.60 का रहा।