टेस्ट मैच में जडेजा का दिखा नया अंदाज़

टेस्ट मैच में जडेजा का दिखा नया अंदाज़

टीम इंडिया के हरफनमौला क्रिकेटर रविंद्र जडेजा को विजडन ने 21वीं सदी का दूसरा सबसे मूल्यवान टेस्ट क्रिकेटर माना है। इतना ही नहीं, विजडन ने जडेजा को भारत का सबसे मूल्यवान क्रिकेटर माना है। 31 साल के रविंद्र जडेजा बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज हैं और टेस्ट क्रिकेट में उनके आंकड़े प्रभावशाली हैं। पिछले दो साल में उनकी बल्लेबाजी में भी जबरदस्त सुधार आया है। यह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी देखने को मिला है। टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली (Virat Kohli) ने उन्हें बल्लेबाजी में भी प्रमोट करते रहते हैं, जिसका फायदा टीम को मिलता है। रविंद्र जडेजा टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) में सबसे तेजी से 200 विकेट लेने वाले दूसरे भारतीय गेंदबाज हैं। उन्होंने 44 टेस्ट मैचों में यह आंकड़ा पार किया था। इस मामले में पहले स्थान पर रविचंद्रन अश्विन हैं। उन्होंने 37 टेस्ट मैचों में 200 विकेट का आंकड़ा छुआ था। लेकिन अपनी बल्लेबाज के कारण जडेजा विजडन के प्रदर्शन का विश्लेषण में उनसे आगे रहे। विजडन ने क्रिकेट में एक विस्तृत विश्लेषण उपकरण क्रिकविज का उपयोग किया। विजडन ने एक एमवीपी रेटिंग बनाई और सांख्यिकीय मॉडल का उपयोग कर उसने खिलाड़ी के प्रदर्शन के कारण खेल पर पड़ने वाले प्रभाव को स्थान दिया है।

मुथैया मुरलीधरन हैं पहले स्थान पर: विश्लेषण उपकरण क्रिकविज के अनुसार, रविंद्र जडेजा 21वीं सदी के दूसरे सबसे मूल्यवान क्रिकेटर हैं, जबकि पहले स्थान पर श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) 97.3 एमवीपी के साथ पहले स्थान पर हैं। विजडन के मुताबिक, 21वीं सदी में क्रिकेट पर सबसे ज्यादा प्रभाव छोड़ने वाले खिलाड़ी मुथैया मुरलीधरन हैं और टेस्ट क्रिकेट में सबसे मूल्यवान क्रिकेटरों में सर्वोपरि हैं। वहीं इस लिस्ट में रविंद्र जडेजा दूसरे स्थान पर हैं और भारतीय खिलाड़ी के तौर पर वह टेस्ट क्रिकेट में भारत में 21वीं सदी के सबसे मूल्यवान क्रिकेटर हैं।

टेस्ट टीम के नियमित सदस्य नहीं हैं जडेजा: क्रिकविज के फ्रैडी विल्डे ने विजडन से कहा कि ये आश्चर्यजनक है कि टीम इंडिया के स्पिन ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा 21वीं सदी के भारत के नंबर एक खिलाड़ी चुने गए हैं और वह भारतीय टेस्ट टीम के नियमित सदस्य भी नहीं हैं। जब वह अंतिम एकादश में शामिल होते हैं तो फ्रंटलाइन गेंदबाज के तौर पर चुने जाते हैं। इसके अलावा वह नंबर छह पर बल्लेबाजी करते हैं।

वॉर्न से भी अच्छा है गेंदबाज औसत: टेस्ट क्रिकेट में 31 साल के जडेजा का गेंदबाजी औसत 24.62 का है। वहीं उनका बल्लेबाजी औसत 35.26 का है। एक हरफनमौला की हैसियत से उनका यह बल्लेबाजी औसत शानदार है। ऐसे खिलाड़ियों के बीच जिन्होंने कम से कम 150 विकेट लिए हों और 1000 रन बनाए हों, उनमें उनके बल्लेबाजी और गेंदबाजी का औसत दूसरे नंबर पर है। जडेजा ने 49 टेस्ट में 35.36 की औसत से 1869 रन 14 अर्धशतक की मदद से बनाए हैं। जडेजा ने एक शतक लगाया है। गेंदबाजी में उनके नाम 213 विकेट दर्ज हैं। इसमें मैच में एक बार 10 विकेट एक बार और पारी में पांच विकेट नौ बार उन्होंने लिए हैं।