IND vs SA: सचिन-द्रविड़ और धोनी के खास क्लब में शामिल हुए कोहली, ऋषभ पंत के साथ मिलकर अजहरुद्दीन से भी निकले आगे

IND vs SA: सचिन-द्रविड़ और धोनी के खास क्लब में शामिल हुए कोहली, ऋषभ पंत के साथ मिलकर अजहरुद्दीन से भी निकले आगे

विस्तार विराट कोहली एक बार फिर से शतक नहीं लगा सके। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 22 नवंबर 2019 के बाद से उनके प्रशंसकों को शतक का इंतजार है। शतकीय पारी नहीं खेलने के बावजूद कप्तान कोहली ने केपटाउन टेस्ट की दूसरी पारी में खास उपलब्धि हासिल कर ली है। उन्होंने अपने करियर की 500वीं पारी पूरी कर ली। वे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 500 पारी खेलने वाले भारत के चौथे खिलाड़ी बन गए हैं। 

कोहली से पहले यह उपलब्धि सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ और महेंद्र सिंह धोनी हासिल कर चुके हैं। तेंदुलकर ने 782, द्रविड़ ने 605 और धोनी ने 526 पारी खेली है। कोहली का अब इन तीनों के खास क्लब में शामिल हो चुके हैं। विराट ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जारी तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में पहला और तीसरा मुकाबला ही खेल सके। वे दूसरे टेस्ट में पीठ में तकलीफ के कारण बाहर थे।

केपटाउन में खेली स्पेशल पारी
कोहली ने केपटाउन की पहली पारी में शानदार अर्धशतक लगाया था। उन्होंने 79 रन बनाए थे। विराट ने 201 गेंदों का सामना किया था और 12 चौके लगाए थे। उनके बल्ले से एक छक्का भी निकला था। पहली पारी में विराट का स्ट्राइक रेट 39.30 था। अगर दूसरी पारी की बात करें तो उन्होंने 143 गेंद पर 29 रन बनाए। इस दौरान चार चौके लगाए। विराट का स्ट्राइक रेट 20.27 रहा।

अजहर को विराट ने छोड़ा पीछे
कोहली ने पंत के साथ मिलकर दूसरी पारी में 94 रन की साझेदारी की। वे भारत के लिए दक्षिण अफ्रीका में पांचवें विकेट की साझेदारी के मामले में दूसरे स्थान पर आ गए। उन्होंने मोहम्मद अजहरुद्दीन और प्रवीण आमरे को पीछे छोड़ा। अजहर और आमरे ने डरबन के मैदान पर 1992-92 में पांचवें विकेट के लिए 87 रनों की साझेदारी की थी। अगर इस विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी की बात करें तो पहले स्थान पर सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग हैं। दोनों ने 2001-02  में 220 रन जोड़े थे। कोहली-पंत दूसरे नंबर पर हैं।

कोहली की खास पारी
विराट कोहली की छोटी पारी की प्रशंसा क्रिकेट एक्सपर्ट कर रहे हैं। विराट ने स्वभाव के विपरीत धीमी बल्लेबाजी की। उनका करियर स्ट्राइक रेट टेस्ट में 56.27 है, लेकिन दोनों पारियों में टीम के लिए उन्होंने धीमी बल्लेबाजी की। एक छोर संभाले रखा और ऋषभ पंत को फ्री होकर खेलने की आजादी दी। पंत ने तेजी से अर्धशतक लगाया और पहले से ज्यादा संयमित दिखे।


गोलकीपर सविता मिली सकती है कप्तानी, चीन को मिला पेनाल्टी शूटआउट

गोलकीपर सविता मिली  सकती है कप्तानी,  चीन को मिला  पेनाल्टी शूटआउट

विस्तार अनुभवी गोलकीपर सविता पूनिया मस्कट में 21 से 28 जनवरी तक होने वाले महिला एशिया कप हॉकी टूर्नामेंट में भारत की 18 सदस्यीय टीम की अगुवाई करेंगी। अनुभवी दीप ग्रेस एक्का को उप कप्तान नियुक्त किया गया है।  '


हॉकी इंडिया की ओर से बुधवार को घोषित 18 सदस्यीय टीम में 16 टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने वाली खिलाड़ी शामिल हैं। नियमित कप्तान रानी रामपाल बेंगलुरु में चोट से उबर रही हैं। इसलिए उन्हें टीम में शामिल नहीं किया गया है। भारत को जापान, मलयेशिया और सिंगापुर के साथ पूल ए में रखा गया है। 

भारतीय टीम अपने खिताब के बचाव का अभियान टूर्नामेंट के पहले दिन मलयेशिया के खिलाफ करेगी। प्रतियोगिता में शीर्ष चार में रहने वाली टीमें स्पेन और नीदरलैंड में होने वाले विश्व कप 2022 के लिए क्वालिफाई करेंगी।

21 से 28 जनवरी तक मस्कट में खेला जाएगा महिलाओं का यह टूर्नामेंट। 18 सदस्यीय टीम में चोट के चलते रानी को नहीं किया गया शामिल। 21 को मलयेशिया के खिलाफ अभियान का आगाज करेगी भारतीय टीम। दो बार भारतीय टीम ने अब (2004, 2017) तक जीती है ट्रॉफी। 2017 में हुए पिछले संस्करण में भारत ने चीन को पेनाल्टी शूटआउट में 5-4 से हराकर जीता था खिताब।

टीम 
गोलकीपर: सविता पूनिया (कप्तान), रजनी एतिमारपू। 
डिफेंडर: दीप ग्रेस एक्का (उप कप्तान), गुरजीत कौर, निक्की प्रधान, उदिता। 
मिडफील्डर: निशा, सुशीला चानू, मोनिका, नेहा, सलीमा टेटे, ज्योति, नवजोत कौर। 
फॉरवर्ड: नवनीत कौर, लालरेम्सियामी, वंदना कटारिया, मारियाना कुजूर, शर्मिला देवी।

भारत का कार्यक्रम
vs मलयेशिया 21 जनवरी
vs जापान 23 जनवरी
vs सिंगापुर 24 जनवरी
सेमीफाइनल 26 जनवरी
फाइनल 28 जनवरी