कप्तान दिमुथ करुणारत्ने का शतक, श्रीलंका की पहली पारी में मजबूत शुरुआत

कप्तान दिमुथ करुणारत्ने का शतक, श्रीलंका की पहली पारी में मजबूत शुरुआत

कप्तान दिमुथ करुणारत्ने की नाबाद शतकीय पारी से श्रीलंका ने दो मैचों की सीरीज के शुरुआती टेस्ट के पहले दिन वेस्टइंडीज के खिलाफ रविवार को तीन विकेट पर 267 रन बनाकर मजबूत नींव रखी। बायें हाथ के सलामी बल्लेबाज करुणारत्ने 264 गेंद की पारी में 13 चौकों की मदद से 132 रन बनाकर क्रीज पर डटे हैं। उनके साथ धनंजय डिसिल्वा 56 रन बनाकर खेल रहे है। दोनों ने चौथे विकेट के लिए अब तक 97 रन की अटूट साझेदारी कर ली है।


करुणारत्ने का टास जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला सही साबित हुआ। उन्होंने पाथुम निशांका के साथ पहले विकेट के लिए 139 रन की शानदार साझेदारी कर श्रीलंका को मजबूत शुरुआत दिलाई। निशांका ने सात चौकों की मदद से 56 रन बनाए। करुणारत्ने को हालांकि जीवनदान भी मिला। जब वह 14 रन पर थे तब रहकीम कार्नवाल की गेंद उनके बल्ले का बाहरी किनारा लेते हुए स्लिप में खड़े जर्मेन ब्लैकवुड के हाथों में पहुंची, लेकिन वेस्टइंडीज के उप कप्तान ने आसान कैच छोड़ दिया।


विकेट लेने की जल्दी में वेस्टइंडीज ने पहले सत्र में ही अपने दोनों रिव्यू गंवा दिए। वेस्टइंडीज को पहली सफलता 50वें ओवर में मिली, जब शेनन ग्रैब्रियल (1/56) की गेंद पर कार्नवाल ने स्लिप में निशांका का शानदार कैच लपका। तीसरे सत्र की शुरुआत में रोस्टन चेस (2/42) ने जल्दी-जल्दी दो विकेट झटककर वेस्टइंडीज की वापसी करने की कोशिश की। उन्होंने ओशादे फनरंडो और अनुभवी एंजोलो मैथ्यूज को पवेलियन भेजा। दोनों ने तीन-तीन रन बनाए। करुणारत्ने ने 69वें ओवर में गैब्रियल की गेंद पर दो रन लेकर 212 गेंद में टेस्ट करियर का 13वां शतक पूरा किया।


चोटिल हुए सोलोजन

वेस्टइंडीज के युवा खिलाड़ी जेरेमी सोलोजानो शार्ट लेग पर क्षेत्ररक्षण करते समय दिन के पहले सत्र में चोटिल हो गए। गेंद उनके हेलमेट पर लगने के बाद वह मैदान से बाहर चले गए। वेस्टइंडीज टीम प्रबंधन ने थोड़ी देर बाद इंटरनेट मीडिया पर पोस्ट किया कि खिलाड़ी अच्छा महसूस नहीं कर रहा था और स्कैन तथा आगे के इलाज के लिए उसे कोलंबो के एक अस्पताल में ले जाया गया है। उन्होंने बाद में एक और ट्वीट कर बताया कि सोलोजानो के सिर में कोई गंभीर बाहरी चोट नहीं है लेकिन वह रात में अस्पताल में चिकित्सकों की निगरानी में रहेंगे।


IND vs NZ: मुंबई में जन्मा ये गेंदबाज, भारतीय बल्लेबाजों को कर रहा है परेशान

IND vs NZ: मुंबई में जन्मा ये गेंदबाज, भारतीय बल्लेबाजों को कर रहा है परेशान

भारत और न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच मुंबई के वानखेडे स्टेडियम में दूसरा टेस्ट मैच खेला जा रहा है. भारत ने दिन की शुरुआत चार विकेट के नुकसान पर 221 रनों के साथ की थी. उम्मीद थी कि भारत शुरुआती घंटे में विकेट बचाकर चलेगा और बड़े स्कोर की तरफ बढ़ेगा लेकिन कीवी टीम के गेंदबाज एजाज पटेल (Ajaz Patel) ने ऐसा नहीं होने दिया. उन्होंने दिन के दूसरे ओवर ही में ही भारत को दो बड़े झटके दे दिए और इसी के साथ वो ऐसा काम कर गए जो आज तक कोई भी कीवी स्पिनर भारत में नहीं कर पाया था. भारत ने अभी तक अपने छह विकेट खोए हैं और सभी के सभी विकेट बाएं हाथ के इसी स्पिनर ने लिए हैं.

एजाज ने दिन के दूसरे ओवर में पहले ऋद्धिमान साहा को पवेलियन भेजा. एजाज ने साहा को एलबीडब्ल्यू किया और इसी के साथ उन्होंने अपने पांच विकेट पूरे किए और इतिहास रच दिया. एजाज भारत में किसी टेस्ट मैच की पहली पारी में पांच विकेट लेने वाले न्यूजीलैंड के पहले स्पिनर बन गए हैं. अगली ही गेंद पर उन्होंने रविचंद्रन अश्विन को शानदार तरीके से बोल्ड किया. उनसे पहले जीतन पटेल ने भारत में किसी टेस्ट मैच की पहली पारी में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले स्पिनर थे. जीतन ने 2012 के भारत दौरे पर हैदराबाद में खेले गए टेस्ट मैच की पहली पारी में चार विकेट लिए थे.

सात मैचों में बड़ी उपलब्धि

एजाज का यह सातवां टेस्ट मैच है. इससे पहले वे कानपुर टेस्ट में भी खेले थे लेकिन वहां अपनी फिरकी का ज्यादा कमाल नहीं दिखा पाए थे. लेकिन मुंबई में उन्होंने भारतीय बल्लेबाजों को खासा परेशान कर रखा है. एजाज न्यूजीलैंड के लिए एशिया में सबसे ज्यादा फाइव विकेट हॉल हासिल करने वाले चौथे गेंदबाज बन गए हैं. एजाज का यह एशिया में तीसरा पांच विकेट हॉल है. इस मामले में वह टिम साउदी के बराबर हैं लेकिन साउदी ने उनसे ज्यादा मैच खेले हैं. साउदी ने 13 मैचों में ये काम किया. पूर्व कप्तान डेनियल विटोरी सबसे आगे हैं जिन्होंने एशिया में खेले 21 टेस्ट मैचों में आठ बार पांच या उससे ज्यादा विकेट लिए. दूसरे नंबर पर महान सर रिचार्ड हेडली हैं जिन्होंने 13 मैचों में पांच पार ये काम किया.

मुंबई में जन्मे हैं एजाज

एजाज का मुंबई से अलग की लगाव लगता है. उनका जन्म भी इसी शहर में हुआ था. एजाज का जन्म 21 अक्टूबर 1988 को मुंबई में ही हुआ था. जब वह आठ साल के थे तब उनका परिवार न्यूजीलैंड जाकर बस गया था और तब से वह इसी देश के वासी हैं. अब वह अपनी जन्मभूमि पर भारत को ही मात देने के लिए प्रतिबद्ध हैं.