जापान में 7 महीने बाद दर्शकों की मौजूदगी में टूर्नामेंट; टोक्यो में 2500 फैन्स ने लाइव मुकाबला देखा

जापान में 7 महीने बाद दर्शकों की मौजूदगी में टूर्नामेंट; टोक्यो में 2500 फैन्स ने लाइव मुकाबला देखा

जापान में कोरोनावायरस के बीच 7 महीने बाद दोबारा सूमो रेसलिंग प्रारम्भ हुई. राजधानी टोक्यो में रविवार को टूर्नामेंट प्रारम्भ हुआ, जो 2 अगस्त तक चलेगा. रयोगुको कोकुगिकन एरिना में हो रहे टूर्नामेंट में दर्शकों को भी एंट्री दी गई है. हालांकि,संख्या नियंत्रित रखी गई है.

इस एरिनामें 11 हजार से ज्यादा लोग बैठकर लाइव रेसलिंग देख सकते हैं, लेकिन कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए सिर्फ 2500 दर्शकों को ही एंट्री दी गई.

फैन्स को रेसलर के पास जाने की मनाही

एरिना में लाइव सूमो रेसलिंग देखने आने वाले दर्शकों को मास्क लगाना जरूरी है. इसके अतिरिक्त उन्हें लगातार अपने हाथ सैनिटाइज करने हैं. एरिना में भी लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना है व किसी भी सूरत में रेसलर के समीप नहीं जाना है. फैन्स उनसे ऑटोग्राफ भी नहीं ले सकते हैं.

गेट पर दर्शकों का तापमान चेक किया गया

वहीं, एरिना के गेट पर दर्शकों का तापमान चेक किया गया. किसी का भी तापमान 37.5 डिग्री सेल्सियस या उससे ज्यादा होने पर उसे एंट्री नहीं दी गई.

दर्शकों को सिर्फ ताली बजाकर जश्न मनाने की इजाजत

सूमो रेसलिंग देखने पहुंचे 49 वर्ष के काजूओ ओकी ने बताया कि हमें जश्न मनाने से मना किया गया. दर्शक सिर्फ ताली बजाकर अपनी खुशी जता सकते हैं. हालांकि, वर्तमान परिस्थिति में एहतियात बरतना महत्वपूर्ण भी है.

टोक्यो में रविवार को 190 नए मुद्दे सामने आए

लाइव रेसलिंग देखने पहुंचे कुछ फैन्स अभी डरे हुए हैं. 59 वर्ष के कतसुहिको ओचियाई ने बोला कि मैं चीबा प्रांत से टोक्यो में सूमो रेसलिंग देखने पहुंचा हूं. यहां अभी भी भय लग रहा है, क्योंकि टोक्यो में दोबारा कोरोना के मुद्दे सामने आने लगे हैं. रविवार को ही अकेले राजधानी में 190 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले.

नगोया से टोक्यो शिफ्ट किया गया टूर्नामेंट

पहले यह सूमो टूर्नामेंट नगोया में बिना दर्शकों के होना था, लेकिन रेसलर व ऑफिशियल्स को ज्यादा ट्रैवल न करना पड़े, इसलिए इसे टोक्यो में शिफ्ट कर दिया. मार्च में भी बिना दर्शकों के टूर्नामेंट हुआ था, लेकिन कोरोना के मुद्दे बढ़ने के बाद मई में होने वाले इवेंट को कैंसिल कर दिया गया था.

जापान में इस महामारी के सामने आने के बाद से एक सूमो रेसलर की मृत्यु हुई है, जबकि कई फाइटर व ऑफिशियल्स भी इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं.