घरेलू सहायिका को कुत्तों से कटवाता रहा यह इंजीनियर नहीं पसीजा दिल, महिला की हुई यह हालत

घरेलू सहायिका को कुत्तों से कटवाता रहा यह इंजीनियर नहीं पसीजा दिल, महिला की हुई यह हालत

दिल्ली से सटे गुड़गांव के सुशांत लोक-1 के सी ब्लाक में निवासी सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने अपनी घरेलू सहायिका को कुत्तों से कटवा दिया. कुत्तों ने घरेलू सहायिका को इस कदर नोच खाया कि उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा है. उसका उपचार चल रहा है. घटना पांच जून की है, लेकिन घरेलू सहायिका की शिकायत पर सुशांत लोक थाना पुलिस ने रविवार को मुद्दा पंजीकृत कर आरोपित को अरैस्ट कर लिया है.

मध्य प्रदेश के पन्ना जिला निवासी पूजा ने थाने में शिकायत देकर बताया कि वह घरों में घरेलू सहायिका का कार्य करती है. पांच जून की शाम वह सी ब्लाक स्थित सॉफ्टवेयर इंजीनियर शरद अग्रवाल के घर कार्य करने कई थी. वहां शरद अग्रवाल अपने सात कुत्तों के साथ बैठा हुआ था. गेट खोलते ही सभी कुत्ते भौंकते हुए उसके ऊपर चढ़ गए व कलाई तथा पैर को बुरी तरह से नोच खाया. वह चिल्लाती रही, लेकिन शरद अग्रवाल ने उसे नहीं बचाया. पड़ोस के लोगों ने कुत्तों को भगाया. शरद ने उसका उपचार कराने की बजाय रिक्शे पर बैठाकर घर भेज दिया.

पूजा के पिता रमेश का बोलना है कि नागरिक अस्पताल में पट्टी करने के बाद डॉक्टरों ने बेटी की हालत को देखते हुए सफदरजंग अस्पताल के लिए रेफर कर दिया. उसका उपचारजारी है. पुलिस प्रवक्ता सुभाष बोकन ने बताया शरद कई बहुराष्ट्रीय कंपनियों में कार्य कर चुका है. फिलहाल, वह सुशांत लोक के सी ब्लाक में एक कोठी किराए पर लेकर रहता है. यहीं से वह विभिन्न कंपनियों को फ्रीलांस सेवाएं देता है. शरद ने घर में सात कुत्ते पाल रखे हैं. जिनमें कोई भी विदेशी प्रजाति का नहीं है तथा किसी भी कुत्ते का वैक्सिनेशन नहीं कराया है.पुलिस के पास पहले भी उसकी शिकायतें आ चुकी थीं.