पेरिस में Article 370 पर बोले पीएम मोदी, गांधी-बुद्ध के देश में अब टेंपररी के लिए कोई जगह नहीं

फ्रांस की राजधानी पेरिस में जी 7 समिट में हिस्सा लेने पहुंचे पीएम मोदी ने शुक्रवार को UNESCO में भारतीयों को संबोधित किया। कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जैसे ही पीएम मोदी स्टेज पर पहुंचे, लोगों ने मोदी-मोदी के नारे लगाना शुरू कर दिया। इस दौरान लोगों को काफी समझाने की कोशिश की गई, लेकिन लोग लगातार मोदी-मोदी के नारे लगाते रहे। इसके बाद पीएम मोदी ने खुद कहा कि पहले राष्ट्रगान होगा। इसके बाद लोग शांत हो गए।

कश्मीर मुद्दे पर इशारा करते हुए कही ये बात
कश्मीर मुद्दे और अनुच्छेद 370 पर इशारा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अब देश में टेंपरेरी की कोई जगह नहीं है, गांधी और बुद्ध के देश में टेंपरेरी को निकालते-निकालते 70 साल चले गए। मुझे यह समझ मेंं नहींं आ रहा है कि इस पर हंसना है या रोना। पीएम मोदी ने भारत और फ्रांस की दोस्ती का जिक्र करते हुए कहा कि दोनों देश अच्छे दोस्त हैं। दोनों देशों की दोस्‍ती मित्रता से भी ऊपर है। अच्छे दोस्त का मतलब होता है सुख- दुख का साथी। साथ ही दोनों देशों की दोस्ती पर उन्होंने कहा कि फ्रांस के फुटबॉल में वर्ल्ड चैंपियन बनने पर भारत ने भी जमकर जश्न मनाया था।

लोगों को दी जन्माष्टमी की बधाई
प्रधानमंत्री ने लोगों को जन्माष्टमी की बधाई दी। उन्होंने आगे कहा कि मुझे बताया गया है कि गणपति महोत्सव पेरिस के cultural calendar की मुख्य विशेषता बन गया है। अब से कुछ दिनों में लोग यहां गणेश चतुर्थी मनाएंगे और पेरिस की सड़कें गणपति मोरया से गूंजेंगी। उन्होंने फ्रांस में बसे भारतीयों को उनके योगदान के लिए सराहा।

रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म की राह पर देष
REFORM PERFORM AND TRANFORM का नारा देते हुए कहा कि देश अब इस राह पर चल पड़ा है और जल्द ही मंजिल को भी प्राप्त करेगा। आज 21 वीं सदी में हम इन्फ्रा की बात करते हैं। मैं कहना चाहूंगा कि मेरे लिए ये IN + FRA है, जिसका अर्थ है भारत और फ्रांस के बीच गठबंधन।