मोदी-इमरान के बीच बैठक को लेकर अटकलें तेज

मोदी-इमरान के बीच बैठक को लेकर अटकलें तेज

राजधानी दिल्ली में पाकिस्तान के विदेश सचिव सोहेल महमूद की अचानक मौजूदगी से इस बात की अटकलें तेज हो गई हैं कि वे संभवत: किसी उच्च स्तरीय बैठक की तैयारी के लिए आए हैं। हालांकि, बताया जा रहा है कि सोहेल महमूद निजी दौरे पर भारत आए हैं। बुधवार को सोहेल महमूद ने दिल्ली की ऐतिहासिक जामा मस्जिद में ईद की नमाज अदा की। सोहेल महमूद के नई दिल्ली में होने की भारत के विदेश मंत्रालय ने पुष्टि नहीं की थी।

जामा मस्जिद
दिल्ली के जामा मस्जिद में अदा की ईद की नमाज
महमूद इमरान खान सरकार में विदेश सचिव बनने से पहले भारत में पाक के उच्चायुक्त थे। फिलहाल ये स्पष्ट नहीं है कि वे भारत सरकार के किसी मंत्री या अधिकारी से मुलाकात करेंगे या नहीं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, सोहेल महमूद के बच्चे यहां पढ़ रहे थे और वह अपने परिवार को वापस ले जाने के लिए यहां आए हैं। भारत और पाक के अधिकारियों ने इस बाबत कहा कि किर्गिस्तान की राजधानी में होने वाली शंघाई सहयोग संगठन की शिखर बैठक में पीएम मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के बीच मीटिंग को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ है।

पाकिस्तान
अपने परिवार को वापस ले जाने आए हैं सोहेल महमूद- सूत्र13-14 जून को शिखर सम्मेलन में दोनों के देशों के प्रधानमंत्रियों के हिस्सा लेने का कार्यक्रम है। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के विदेश सचिव एक-दो दिन दिल्ली में रुकेंगे और इस बात के भी कयास लगाए जा रहे हैं कि इस दौरान वे दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच बैठक को लेकर विदेश मंत्रालय के अधिकारियों से मुलाकात कर सकते हैं।

पीएम मोदी
बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था। इस आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे। इस आत्मघाती हमले के 12 दिनों बाद भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने पाक के बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर बम बरसाए थे जिसमें 300 के करीब आतंकियों के मारे गए थे। हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनावों में पीएम मोदी की जीत पर पाक के प्रधानमंत्री इमरान खान ने फोन कर बधाई दी थी। जबकि ईद के मौके पर दोनों देशों की सीमा पर सैनिकों ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाई।