जानिए, क्या हैं माइक्रोकरंट फेशियल के फायदे

जानिए, क्या हैं माइक्रोकरंट फेशियल के फायदे

अब हर दिन स्किन केयर के क्षेत्र में नये-नये ढंग देखे जा रहे हैं। स्किन को खूबसूरत बनाने के लिए आप कई तरह के पार्लर ट्रीटमेंट लेती हैं। हाल ही में वैम्पायर फेसेस सुर्खियों में रहे।

लेकिन क्या आपने माइक्रोकरंट फेशियल के बारे में सुना है? दरअसल यह एक पुराना उपाय है जो कि सेलिब्रिटिज़ व ब्यूटी ब्लॉगर्स के बीच बहुत ज्यादा लोकप्रिय हो रहा है। आज हम इसी के बारे में बताने जा रहे हैं। जानते हैं इस नए फेशियल के बारे में।

माइक्रोकरंट फेशियल क्या है?
इस तकनीक में सेल की मरम्मत के लिए एक मशीन की मदद से आपकी स्कीन में माइक्रोकरंट एनर्जी भेजी जाती है। सेल्स की मरम्मत में तेज़ी लाने के लिए व हेल्दी सेल उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए शरीर में माइक्रोकरंट अमीनो एसिड व एडेनोसिन ट्राइफॉस्फेट (एटीपी) के उत्पादन को ट्रिगर करता है।

माइक्रोकरंट फेशियल के फायदे क्या हैं?
यह सेंसिटिव स्किन के लिए बहुत अच्छा है व आपकी स्कीन को कसा हुआ दिखाता है जिससे आपको एक कमाल का ग्लो मिलता है।

माइक्रोकरंट मांसपेशियों के कार्य को बेहतर बनाते हुए पतली महीन लाइन्स को कम करते हैं व रक्त का संचार बढ़ाता है।

बोटॉक्स के उलट, माइक्रोकरंट चेहरे की मांसपेशियों में कमज़ोर नहीं करता है। इसके अतिरिक्त यह स्कीन पर कोमल होता है व इसमें बहुत ज्यादा कम समय लगता है। तो मेरे जैसे लोग जो बोटॉक्स पसंद नहीं करते व अपनी स्किन को अच्छा बनाना चाहते हैं, उनके लिए यह एक बढ़िया विकल्प होने कि सम्भावना है

माइक्रोकरंट फेशियल कैसे किया जाता है?

* सबसे पहले चेहरे से गंदगी, मेकअप, चिपचिपाहट साफ की जाती है।

* अब एक एलो वेरा वाला कारागार लगाया जाता है जो आपकी स्कीन को सुरक्षा देने के साथ उसे हाइड्रेट करता है।

* अब अल्ट्रासॉनिक स्क्रबर से कारागार साफ किया जाता है। हल्के वायब्रेशन से त्वता को एक्सफॉलिएट किया जाता है।

* अब आपकी स्किन टोन के हिसाब से एलईडी (LED) लाइट्स लगायी जाती हैं। लाल रोशनी कोलाजन के उत्पादन को बढ़ाती है व झुर्रियों को कम करती है। नीली रोशनी से पिम्पल कम होते हैं।

* 50-मिनट की इस ट्रीटमेंट के अंत में चेहरे की मसाज की जाती है व इसके लिए एक मॉश्चराइज़र का प्रयोग किया जाता है।