राष्ट्रपति शी जिनपिंग की तरह भ्रष्टाचारियों पर लगाम लगा पाता, ऐसा चाहते है इमरान खान

 राष्ट्रपति शी जिनपिंग की तरह भ्रष्टाचारियों पर लगाम लगा पाता, ऐसा चाहते है इमरान खान

. पद संभालने के बाद अपने तीसरे दौरे पर चाइना पहुंचे पाक के पीएम इमरान खान ने एक बार फिर से अपनी लाचारी को संसार के सामने पेश किया है. इमरान खान ने मंगलवार को बोला कि काश मैं भी अपने देश में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की तरह भ्रष्टाचारियों पर लगाम लगा पाता व उन्हें कारागार भेज पाता.

इमरान खान ने बोला कि उनकी ख़्वाहिश होती है कि वह चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के कार्यों का अनुसरण कर सकें व पाक में 500 भ्रष्ट व्यक्तियों को कारागार भेज सकें.

समाचार लेटर डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, बीजिंग में अंतरराष्ट्रीय व्यापार के प्रोत्साहन के लिए चीनी परिषद को संबोधित करते हुए पीएम ने बोला कि एक वस्तु जो उन्होंने चाइना से सीखी है वह यह कि कैसे करप्शन पर नकेल कसी जा सकती है.

इमरान खान ने बोला कि राष्ट्रपति शी जिनपिंग की सबसे बड़ी लड़ाई करप्शन के विरूद्ध है. मैंने सुना है कि 400 मंत्री स्तर के लोगों को करप्शन के मुद्दे में दोषी ठहराया गया है व चाइना में बीते पांच वर्षो में उन्हें कारागार भेजा गया है.

पीएम बनने के बाद तीसरे दौरे पर बीजिंग पहुंचे हैं इमरान खान

इमरान ने बोला कि मेरी भी ख़्वाहिश होती है कि काश मैं भी राष्ट्रपति शी के नक्शेकदम पर चल सकूं व पाक में 500 भ्रष्टाचारियों को कारागार के अंदर डाल सकूं.

उन्होंने कहा, लेकिन पाक में प्रक्रियाएं बहुत ज्यादा जटिल होती हैं व देश में निवेश के लिए सबसे बड़ी बाधाओं में से से एक करप्शन है.

इस संबोधन के बाद इमरान बीजिंग के ग्रेट हाल आफ पीपुल पहुंचे जहां चाइना के पीएम ली केकियांग ने उनका स्वागत किया. बता दें कि इमरान खान मंगलवार प्रातः काल बीजिंग पहुंचे. अगस्त 2018 में पीएम का पद संभालने के बाद यह बीजिंग का उनका तीसरा दौरा है.