गर्भावस्‍था के दौरान योग करने से महिलाओ को को प्रसव के समय मिलता है यह फायदा

गर्भावस्‍था के दौरान योग करने से महिलाओ को को प्रसव के समय मिलता है यह फायदा

गर्भावस्‍था के दौरान योग, जिसे प्रसव-पूर्व योग या prenatal योग भी कहा जाता है, करने से गर्भवती महिला का दिमाग शांत रहता है। डिलिवरी से पहले योग विशेषज्ञ और डॉक्टर्स बार-बार इस बात पर जोर देते रहे हैं कि साधारण व्‍यायाम जैसे पैदल चलना और योग से गर्भावस्‍था की परेशानियों को दूर किया जा सकता है। प्राणायाम को तीनों तिमाहियों में दिनचर्या में शामिल किया जाना चाहिए, क्‍योंकि इससे क्रोध और तनाव जैसे नकारात्‍मक मनोविकारों से मुक्‍ति मिलती है। यहां हम आपको बता रहे हैं योग के कुछ साधारण आसन जिन्हें आप गर्भावस्था के दौरान भी कर सकती हैं।

नॉर्मल डिलिवरी में मदद करता है तितली आसन

यह आसन गर्भावस्था के तीसरे महीने से कर सकते हैं। इससे शरीर में लचीलापन आता है और साथ में डिलिवरी के दौरान तकलीफ कम होती है। अगर आप इसका नियमित अभ्‍यास करती हैं तो बहुत हद तक सी सेक्‍शन की संभावना भी कम हो जाती है।

तितली आसन करने की विधि

इस आसन को करने के लिए दोनों पैरों को सामने की ओर मोड़कर अपने पैर मिला लें। दोनों पैरों को नमस्ते की मुद्रा बनाएं। दोनों हाथों की उंगलियों को क्रॉस करते हुए पैर के पंजे को पकड़ें और अपने पैरों को ऊपर नीचे की ओर पकड़े। अगर इस आसन को करने से आपको निचले हिस्से में दर्द महसूस हो तो इसे बिल्कुल ना करें।