माइग्रेन के दर्द से बचाव के लिए ना करे इन खाद्य पदार्थो का सेवन ...

माइग्रेन के दर्द से बचाव के लिए ना करे इन खाद्य पदार्थो का सेवन ...

माइग्रेन की वजह से होने वाला सिरदर्द अधिक दर्दनाक होता है। माइग्रेन का दर्द अक्सर मिचली, चक्कर आना व उल्टी के साथ होता है। जिसे ये कठिनाई होती है उसके लिए इसे झेलना बड़ी हु कठिन का कार्य होता है। माइग्रेन की वजह से होने वाला दर्द घंटों तक हो सकता है। यह दर्द आमतौर पर सिर के साइड में होता है व असहनीय होता है। इस संबंध में, लोग माइग्रेन दर्द को रोकने के लिए दवा का उपयोग करते हैं। इस कठिनाई से बचने के लिए आपको कुछ खाद्य पदार्थ का भी ध्यान रखना पड़ता है। आज हम इसी के बारे में बताने जा रहे हैं।

एल्कोहल:
एल्कोहल विशेष रूप से रेड वाइन माइग्रेन को ट्रिगर करता है। एल्कोहल में टैनिन व फ्लैवोनॉयड्स जैसे यौगिक होते हैं, जो माइग्रेन की समस्या को बढ़ाते हैं। इसके अलावा, एल्कोहल का सेवन डिहाईड्रेशन का कारण भी बनता है जो सिरदर्द को बढ़ाता है।

कैफीन:
यदि आप माइग्रेन से पीड़ित हैं तो आपको कैफीन के सेवन को सीमित करना चाहिए। अधिक कैफीन का सेवन आपके दिमाग के रिसेप्टर्स को प्रभावित करता है जिसके कारण माइग्रेन की समस्या होती है।

पैक्ड फूड्स या ड्रिंक्स:
आर्टिफिशिल स्वीटनर माइग्रेन को ट्रिगर करने में सहयोग देता है। माइग्रेन को रोकने के लिए पैक किए गए खाद्य पदार्थों व पेय पदार्थों का उपभोग करना बंद करें। डाइट सोडा, नाश्ता में अन्न व पुडिंग शामिल हैं।

चॉकलेट क्रेविंग:
चॉकलेट का सेवन भी माइग्रेन को बढ़ाता है। मिठ के लिए क्रेविंग आना माइग्रेन का लक्षण होता है। माइग्रेन के शुरुआती चरण में, लोग चॉकलेट क्रेविंग का अनुभव करते हैं।