लॉकडाउन 4 में मिली छूट तो दिल्ली के कई इलाकों में लगा भीषण जाम

लॉकडाउन 4 में मिली छूट तो दिल्ली के कई इलाकों में लगा भीषण जाम

नई दिल्ली: लॉकडाउन-4 में छूट मिलने के बाद से दिल्ली में जाम लगने का सिलसिला प्रारम्भ हुआ था, जो शुक्रवार को भी जारी है. दिल्ली के आइटीओ (ITO) पर भीषण जाम लग गया है. यहां पर वाहनों की गति थम सी गई है. लोग धूप में परेशान हैं. बताया जा रहा है कि दिल्ली-नोएडा के सीमावर्ती इलाकों में कई जगहों पर लोगों को जाम से जूझना पड़ रहा है.

रात के समय सूनी रहने वाली दिल्ली की सड़कें प्रातः काल से लेकर देर शाम तक जाम से कराह रही हैं. हालत यह है कि कई स्थान लोगों को एक किलोमीटर का सफर तय करने में एक से डेढ़ घंटे का समय लग रहा है.

उधर, दिल्ली के कांलिदी कुंज इलाक में दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर लंबा जाम लग गया. इसकी वजह से लोग चिलचिलाती धूप में परेशान रहे.

सीमाओं पर रहा वाहनों का दबाव, जाम से जूझ रहे लोग

दिल्ली सरकार ने लॉकडाउन-4 में कंटेनमेंट व बफर जोन के अलावा अन्य सभी क्षेत्रों में लोगों को बड़ी रियायत दी है. इसके बाद से ही लगातार दिल्ली सीमा से उत्तर प्रदेश व हरियाणा जाने वाली सड़कों पर लगातार जाम की समस्या सामने आ रही है. दिल्ली से नोएडा जाने वाले लोग अपने-अपने वाहन से कालिंदी कुंज व डीएनडी के रास्ते से नोएडा में प्रवेश करने का कोशिश करते हैं लेकिन नोएडा पुलिस केवल पास धारकों व आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को ही प्रवेश करने की अनुमति दे रही है. वहीं, फरीदाबाद सीमा पर भी चेकिंग के चलते वाहनों की लंबी कतारें लग जाती हैं.

शुक्रवार प्रातः काल भी दिल्ली से नोएडा जाने वाले लोगों ने दिल्ली सीमा पार करने का कोशिश किया, लेकिन नोएडा पुलिस ने नोएडा प्रशासन द्वारा जारी पास धारकों व आवश्यक सेवाओं से जुडे लोगों को ही प्रवेश की अनुमति दी जिसके कारण लंबा जाम लग गया. इस दौरान दिल्ली की तरफ की लेन में लंबा जाम लग गया. वहीं, फरीदाबाद सीमा पर भी बदरपुर बॉर्डर के पास फरीदाबाद पुलिस ने भी केवल आवश्यक सेवाओं से जुड़े व पासधारकों को ही सीमा में प्रवेश की अनुमति दी. पुलिस की जगह-जगह बैरिकेडिंग की वजह से सारे एनसीआर में अक्सर जाम लग रहा है.

बसों के पीछे भी दौड़ लगा रहे लोग

वहीं,तपती दोपहर में पसीना बहाकर बसों का इंतजार करने वाले लोगों को सब्र उस समय जवाब दे जाता है, जब उन्हें बस आती हुई दिखाई देती है. लोगों की संख्या अधिक होने व बसों में यात्रियों की संख्या सीमित किए जाने के कारण लोगों को बसों का इंतजार करना पड़ रहा है. बस स्टॉप पर न तो शारीरिक दूरी का पालन हो रहा है, न ही लोग कतार में इंतजार कर रहे हैं. जबरदस्ती लोग बसों में घुसने का कोशिश भी कर रहे हैं, जिन्हें जबरन बस से उतारा भी जा रहा है. ऐसे में लोगों को बस से गंतव्य तक जाने को घंटों धूप में खड़े होकर इंतजार करना पड़ रहा है.