कोरोना काल में मास्क न लगाने व सोशल डिस्टेंसिंग के उल्लंघन पर सख्ती

कोरोना काल में मास्क न लगाने व सोशल डिस्टेंसिंग के उल्लंघन पर सख्ती

कोरोना काल में राजधानी दिल्ली में मास्क न पहनने, सार्वजनिक स्थानों पर थूकने व सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन करने पर 15 जून से 31 जुलाई के बीच दिल्ली पुलिस ने लगभग एक लाख चालान काटे हैं. इस दौरान 15 पुलिस जिलों में 97,417 चालान काटे गए. कुल काटे गए चालान में से बाहरी जिले में अधिकतम 9,524 चालान जारी किए गए, इसके बाद दक्षिण जिला में 9,417, दक्षिण-पूर्व जिले में 7,724 व पश्चिम जिले में 7,507 चालान शामिल हैं.

पुलिस ने बताया कि मास्क न पहनने पर दिल्ली में काटे गए कुल 83,393 चालान में से दक्षिण जिले में 9,234, बाहरी जिले में 8,063, उत्तरी जिले में 6,550, दक्षिण-पूर्वी जिले में 6,189 व पश्चिमी जिले में 5,980 व नयी दिल्ली में 3,173 चालान किए गए. 

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने COVID-19 को रोकने के लिए स्वास्थ्य, राजस्व व पुलिस अधिकारियों को नियमों के उल्लंघन के लिए 1,000 रुपये तक का जुर्माना लगाने का अधिकार दिया था, जिसमें क्वारंटाइन नियमों का पालन न करना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करना, सार्वजनिक या कार्यस्थलों में फेस मास्क न पहनना व सार्वजनिक स्थानों पर थूकना व सार्वजनिक स्थानों पर पान, गुटखा व तंबाकू का सेवन करना शामिल है. 

पहली बार क्राइम करने पर 500 रुपये का जुर्माना व बार-बार क्राइम करने वालों पर 1,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा. सार्वजनिक स्थानों पर थूकने के लिए कुल 1,657 चालान जारी किए गए हैं. पुलिस के अनुसार, पश्चिमी जिले में 305 चालान, बाहरी जिले में 254, शाहदरा में 228 व दक्षिण-पश्चिम जिले में 149 अन्य लोगों के लिए जारी किए गए थे. 

पुलिस ने बोला कि सबसे कम पांच चालान जिले दक्षिणी जिले में जारी किए गए. सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने के लिए पुलिस द्वारा 12,367 लोगों पर जुर्माना लगाया गया था. पुलिस ने बोला कि दक्षिण-पश्चिम जिले में अधिकतम 1,565 चालान जारी किए गए, बाहरी-उत्तरी जिले में 1,457, दक्षिण-पूर्वी जिले में 1,388 व पश्चिमी जिले में 1,222 लोगों के चालान किए गए. दिल्ली पुलिस ने 15 जून से अब तक जरूरतमंदों को 1,56,817 मास्क वितरित किए हैं.