कमलनाथ के झंडा फहराने वाले ट्वीट से कांग्रेस पार्टी की 'फजीहत'

कमलनाथ के झंडा फहराने वाले ट्वीट से कांग्रेस पार्टी की 'फजीहत'

भोपाल: 20 मार्च 2020 को मध्य प्रदेश कांग्रेस पार्टी के ऑफिशियल टि्वटर (Twitter) हैंडल से किया गया एक ट्वीट आज खुद पार्टी के गले की फांस बन गई है। भाजपा समेत सोशल मीडिया यूजर्स की ओर से कांग्रेस पार्टी के इस ट्वीट को लेकर जमकर कटाक्ष किए जा रहे हैं। दरअसल, मध्य प्रदेश में बदले सियासी घटनाक्रम के बीच 20 मार्च 2020 को तत्कालीन सीएम कमलनाथ (Kamal Nath) ने अपने पद से त्याग पत्र दे दिया था। इसी दिन मध्य प्रदेश कांग्रेस पार्टी के ऑफिशिल टि्वटर हैंडल से एक ट्विटर हैंडल से लिखा है गया जिसमें लिखा था कि इस ट्वीट को संभाल कर रखना-15 अगस्त 2020 को कमलनाथ जी मध्य प्रदेश के सीएम के तौर पर ध्वजारोहण करेंगे व परेड की सलामी लेंगे। ये बेहद अल्प विश्राम है। अब जबकि 15 अगस्त 2020 आ गई है लिहाजा कांग्रेस पार्टी (Congress) के ट्वीट को लेकर जमकर कटाक्ष किए जा रहे हैं। भाजपा नेताओं के साथ-साथ सोशल मीडिया की ट्रोल आर्मी (Troll Army) कांग्रेस, कमलनाथ व दिग्विजय सिंह पर निशाना साध रही है।

आ रही कुछ ऐसी प्रतिक्रिया? 

कांग्रेस पार्टी के इस ट्वीट पर मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा व नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने पलटवार किया है। नरोत्तम मिश्रा ने कटाक्ष करते हुए बोला कि 15 अगस्त को अगर कमलनाथ बतौर मुख्यमंत्री कहीं झंडा फहराते हुए दिख जाए तो मुझे भी बताना, मैं भी वहां जाऊंगा। वहीं, भूपेंद्र सिंह ने कांग्रेस पार्टी पर पलटवार करते हुए बोला कि झंडा कौन व कब फहराएगा ये पार्टी या नेता नहीं बल्कि जनता तय करती है। कांग्रेस पार्टी अपने खेमे को बांधे रखने के लिए इस तरह की फिजूल बातें करती है। इससे पहले भी कांग्रेस पार्टी विधायक दल की मीटिंग में यह बोला गया था कि अगली मीटिंग राजभवन में ही होगी।
ट्रोल आर्मी एक्टिव

20 मार्च 2020 को किए गए कांग्रेस पार्टी के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया ट्रोल आर्मी भी एक्टिव हो गई है। कांग्रेस पार्टी के तब के इस ट्वीट को भी रीट्वीट करते हुए भाजपा के नेता व्यंग्य करते हुए इमोजी बना रहे हैं। तो वहीं ट्रोल आर्मी कह रही है कि कांग्रेस पार्टी ने गलती से 2020 लिख दिया था। दरअसल इसे 2020 नहीं 2030 व 40 पढ़ा जाए। हालांकि कुछ कमेंट तो ऐसे भी हैं जिन्हें लिखा भी नहीं जा सकता।