कमलनाथ सरकार में मंत्रियों का बंगला खाली कराने पहुंची टीम

कमलनाथ सरकार में मंत्रियों का बंगला खाली कराने पहुंची टीम

भोपाल: विभाग बंटवारे के साथ ही नए मंत्रियों ने राजधानी में आवंटित बंगलों का तकादा करना प्रारम्भ कर दिया है. इसे देखते हुए संपदा संचालनालय ने पूर्व मंत्रियों पर सख्ती बरतना प्रारम्भ कर दी है. मंगलवार को संचालनालय व लोक निर्माण विभाग की संयुक्त टीम पुलिस के साथ कमल नाथ सरकार में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री रहे कमलेश्वर पटेल का बंगला खाली कराने पहुंची. पहले तो पूर्व मंत्री ने ना नुकूर की, बाद में उन्होंने बंगला खाली करने के लिए 10 दिन का समय मांग लिया. हालांकि टीम बुधवार को फिर से बंगला खाली कराने पहुंचेगी.

सरकार ने 74 बंगला क्षेत्र स्थित पूर्व मंत्री पटेल का बंगला क्रमांक डी-20 सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया को आवंटित कर दिया है. विभागों का बंटवारा होते ही भदौरिया ने संपदा संचालनालय से बंगला तैयार करने को बोला तो संचालनालय की टीम बंगला खाली कराने पहुंच गई. सूत्र बताते हैं कि टीम ने पूर्व मंत्री को बंगला खाली करने को बोला तो उन्होंने गृह विभाग के अधिकारियों से बात की. इस बीच लोक निर्माण विभाग के कर्मचारियों ने बंगले से सरकारी सामान निकलना प्रारम्भ कर दिया.

अधिकारियों के मुताबिक, शाम को पटेल ने 10 दिन का समय मांगा है. इसके लिए संपदा के ऑफिसर तैयार नहीं हुए. टीम बुधवार को भी कार्रवाई जारी रखेगी. इस दौरान पटेल ने अपने सामान की पैकिंग प्रारम्भ कर दी तो उन्हें एक-दो दिन का समय दिया जा सकता है.

उधर, पूर्व मंत्री पटेल ने एक बार फिर शासन को लेटर लिखा है कि वे वैकल्पिक व्यवस्था होने तक बंगला खाली नहीं कर पाएंगे. पटेल पहले भी लेटर लिख चुके हैं. चार पूर्व मंत्रियों ने समेटा सामान कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ विधायक डाक्टर गोविंद सिंह सहित चार पूर्व मंत्रियों ने सरकारी बंगलों से सामान समेटना प्रारम्भ कर दिया है. सूत्र बताते हैं कि डाक्टर सिंह के अलावा, जयव‌र्द्घन सिंह, प्रियवृत सिंह व आरिफ अकील ने भी बंगलों से ज्यादातर सामान निकाल लिया है. अकील का बंगला उद्योग मंत्री राजवर्धन सिंह को आवंटित किया गया है. सिंह ने संपदा से बंगला तैयार करने को बोला है. विस पूल से पूर्व मंत्रियों को मिले बंगले विधानसभा पूल से तीन पूर्व मंत्रियों व दो बीजेपी विधायकों को बंगले आवंटित कर दिए गए हैं. इनमें कमल नाथ सरकार में मंत्री रहे सज्जन सिंह वर्मा, प्रियवृत सिंह व जयव‌र्द्घन सिंह के अतिरिक्त बीजेपी के वरिष्ठ विधायक अजय विश्नोई व आशीषष शर्मा शामिल हैं.

सभी को बंगले खाली होने की प्रत्याशा में ई-टाइप बंगले आवंटित किए गए हैं. कमल नाथ सरकार के ज्यादातर पूर्व मंत्रियों ने बंगले बदलाव का आवेदन दिया था, जिन पर अभी तक निर्णय नहीं हुआ है. बारी-बारी से बंगले खाली कराएगी टीम संपदा की टीम अब पूर्व मंत्रियों से अभियान चलाकर बंगले खाली कराएगी. इसके लिए बुधवार से टीम सक्रिय रहेगी व सबसे पहले पूर्व मंत्री आरिफ अकील का बंगला खाली कराने पहुंचेगी. इसके बाद बारी--बारी से सभी पूर्व मंत्रियों के बंगले खाली कराए जाएंगे. हालांकि कुछ पूर्व मंत्री अभी भी बंगले खाली करने की ख़्वाहिश नहीं रखते हैं. वे गृह विभाग के अधिकारियों के सम्पर्क में हैं.