कोरोना संकट के बीच उत्तराखंड में आई भीषण आपदा, बचाव में पिथौरागढ़ पहुंचा हेलीकॉप्टर

कोरोना संकट के बीच उत्तराखंड में आई भीषण आपदा, बचाव में पिथौरागढ़ पहुंचा हेलीकॉप्टर

देहरादून: देश के प्रदेश उत्तराखंड के सीमांत में आई भीषण आपदा के पश्चात् राहत एवं बचाव के लिए एक हेलीकॉप्टर पिथौरागढ़ पहुंच गया है। मौसम साफ होने पर शनिवार प्रातः से बंगापानी तहसील के जाराजिबली, लुम्ती व मोरी समेत अन्य गांवों में जंगलों में फंसे लोगों को निकाला जाएगा। वही बंगापानी तहसील के टांगा से लेकर बरम के मेतली तक के क्षेत्र में आपदा ने जमकर कहर बरपाया है। चामी में पुल बहने से लोग वापस नहीं आ पा रहे हैं।

वही सेना के कुमाऊं स्काउट के जवानों ने लुम्ती समेत नजदीक के गांवों के करीब तीन सौ लोगों को तार व लकड़ी के कच्चे पुल के सहारे निकाल लिया है, किन्तु अधिकांश ग्रामीण पहाड़ी के निरंतर दरकने से नीचे की तरफ नहीं आ पा रहे हैं। साथ ही ये लोग गांव के ऊपरी भागों में स्थित जंगलों व खेतों में टैंट लगाकर सहायता की उम्मीद में बैठे हैं। लुम्ती, मोरी, मेतली व जाराजिबली समेत अन्य गांवों के लोग संकट में हैं। शुक्रवार को दिन में देहरादून से एक हेलीकॉप्टर मिर्थी हेलीपैड में उतरा।

साथ ही मुनस्यारी व बंगापानी इलाके में निरंतर वर्षा की वजह से हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू नहीं किया जा सका। शनिवार को मौसम साफ होने पर गांवों में फंसे लोगों को निकालने, व उन तक राशन समेत अन्य आवश्यक सामान पहुंचाने का कार्य शुरुआत होगा। कलेक्टर डाक्टर विजय कुमार जोगदंडे के आदेश पर राजस्व टीम भी गांवों में फंसे लोगों तक आवश्यक सामान पहुंचाने के लिए प्रयास कर रही है। वही अब बचाव काम जारी है।