कोरोना के कहर से DMK विधायक ने तोड़ा दम

कोरोना के कहर से DMK विधायक ने तोड़ा दम

चेन्नई: देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर जारी है। इस वायरस की वजह से तमिलनाडु में विधायक की मृत्यु का पहला मुद्दा सामने आया है। द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) के विधायक जे। अंबाज़गन (J Anbazhagan) की कोरोना संक्रमण से मृत्यु हो गई है। अंबाज़गन एक सप्ताह पहले कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। चेन्नई के व्यक्तिगत अस्पताल में उनका उपचार चल रहा था। बुधवार प्रातः काल करीब 7 बजे उनका निधन हो गया। अंबाज़गन चेन्नई पश्चिम जिले में डीएमके सेक्रेटरी भी थे। कोरोना वायरस से किसी जन-प्रतिनिधि की मृत्यु का ये देश में पहला मुद्दा है।



बीते मंगलवार को सांस लेने में परेशानी व जुकाम-बुखार की शिकायत के बाद अंबाज़गन का कोरोना टेस्ट किया गया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद से ही वह चेन्नई के डाक्टर रेला इंस्टीट्यूट एंड मेडिकल सेंटर में भर्ती थे। 61 वर्ष के अंबाज़गन को किडनी से जुड़ी बीमारी भी थी। उनका शुगर लेवल भी हाई था।

हॉस्पिटल के सीईओ डाक्टर इलनकुमार कलियामूर्ति के मुताबिक, विधायक की दशा सोमवार शाम से बिगड़ गई थी। उन्हें क्रिटिकल केयर यूनिट (ICU) में शिफ्ट किया गया था। कलियामूर्ति के मुताबिक, डीएमके विधायक अंबाज़गन का दिल अच्छा से कार्य नहीं कर पा रहा था। ऐसे में उनकी हालत गम्भीर बनी हुई थी। बुधवार प्रातः काल उन्होंने अंतिम सांस ली।

बता दें कि महाराष्ट्र के बाद देश में सबसे ज्यादा कोरोना वायरस संक्रमण वाला प्रदेश तमिलनाडु है। चेन्नई व आसपास के जिलों में प्रदेश के कुल कोरोना वायरस केसों में 75 प्रतिशत हिस्सेदारी है। इसके अलावा, चेन्नई जिले में 18.13 फीसदी की पॉजिटिविटी दर दर्ज की गई। इसके बाद चेंगलपट्टू 13.28 प्रतिशत, तिरुवल्लूर 11.96 फीसदी व अरियालुर 9.62 फीसदी का नंबर आता है।

हाल ही में तमिलनाडु के सीएम ई पलानीस्वामी ने बोला कि प्रदेश में दर्ज केसों में से लगभग 86 फीसदी एसिम्पटोमैटिक यानि बिना लक्षण वाले हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि संक्रमण के प्रसार पर आखिर काबू पा लिया जाएगा।