अब 18 साल का होने से पहले ही वोटर लिस्ट में दर्ज करा सकते हैं नाम

अब 18 साल का होने से पहले ही वोटर लिस्ट में  दर्ज करा सकते हैं नाम

निर्वाचन आयोग के एक बयान के अनुसार, मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार और निर्वाचन आयुक्त अनूप चंद्र पांडे के नेतृत्व में आयोग ने राज्यों में चुनावी तंत्र को तकनीक-सक्षम निवारण तैयार करने का निर्देश दिया है ताकि युवाओं को अपना अग्रिम आवेदन करने में सुविधा हो.

चुनावों में युवाओं की अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने के कोशिश के अनुसार निर्वाचन आयोग ने निर्णय किया है कि 18 साल पूर्ण होने पर मतदाता के तौर पर पंजीकरण कराने के लिए अब 17 वर्ष से अधिक उम्र के युवा अग्रिम आवेदन कर सकते हैं. कुछ समय पहले तक, किसी साल एक जनवरी को या उससे पहले 18 साल की उम्र पूर्ण करने वाले युवा मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज कराने के पात्र होते थे. एक जनवरी के बाद 18 वर्ष के होने वालों को मतदाता के रूप में पंजीकरण के लिए पूरे एक वर्ष तक इन्तजार करना पड़ता था.

चुनाव कानून में परिवर्तन के बाद, लोग एक जनवरी, एक अप्रैल, एक जुलाई और एक अक्टूबर को 18 वर्ष की उम्र में मतदाता के रूप में पंजीकरण करा सकते हैं. निर्वाचन आयोग के एक बयान के अनुसार, मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार और निर्वाचन आयुक्त अनूप चंद्र पांडे के नेतृत्व में आयोग ने राज्यों में चुनावी तंत्र को तकनीक-सक्षम निवारण तैयार करने का निर्देश दिया है ताकि युवाओं को अपना अग्रिम आवेदन करने में सुविधा हो. बयान में बोला गया है, ‘‘अब से, मतदाता सूची को हर तिमाही में अपडेट किया जाएगा और पात्र युवाओं को उस साल की अगली तिमाही में दर्ज़ किया जा सकता है जिसमें वे 18 साल के हुए होंगे.’’ निर्वाचन आयोग ने बाद में कहा, ‘‘अग्रिम आवेदन नौ नवंबर, 2022 को या उसके बाद जमा किये जा सकते है, यह वह तारीख है जब मतदाता सूची का मसौदा प्रकाशित किया जाएगा.’’