Coronavirus को हराने के लिए पहले टेस्‍ट में पास रही अमरीकी वैक्‍सीन

Coronavirus को हराने के लिए पहले टेस्‍ट में पास रही अमरीकी वैक्‍सीन

वॉशिंगटन. कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine)को लेकर पूरी संसार खुशखबरी का इंतजार कर रही है. इस कड़ी में अमरीकी कंपनी का इस्तेमाल पास होता दिख रहा है. अमरीकी कंपनी मॉडर्ना कोरोना वायरस वैक्‍सीन (Moderna coronavirus Vaccine) अपने पहले ट्रायल में पूरी तरह से पास रही है. न्‍यू इंग्‍लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित अध्‍ययन में बताया गया है कि 45 स्‍वस्‍थ लोगों पर इस वैक्‍सीन के पहले टेस्‍ट के परिणाम बेहतर रहे हैं. इस वैक्‍सीन ने प्रत्‍येक व्‍यक्ति के अंदर कोरोना से जंग के लिए एंटीबॉडी (Antibody) विकसित कर ली है. बताते चलें कि एंटीबॉडी का विकसित होना एक अच्छा इशारा माना जा रहा है.

मॉडर्ना की वैक्‍सीन की अच्‍छी बात यह रही कि इसका खास कोई साइड इफेक्‍ट नहीं रहा. इसकी वजह से वैक्‍सीन के ट्रायल को नहीं रोक गया. शुरुआती टेस्टिंग में अगर एंटीबॉडी बनती है तो इसे बड़ी सफलता माना जाता है. मगर इसकी कोई गारंटी नहीं है कि यह वैक्‍सीन कोरोना वायरस के खात्‍मे में प्रभावी होगी. टेस्‍ट में 45 ऐसे लोगों को शामिल किया गया था जो स्‍वस्‍थ थे. इनकी आयु 18 से 55 वर्ष के बीच थी.

इसके ट्रायल को प्रारम्भ किया गया

इस टेस्‍ट के दौरान बुजुर्गों पर वैक्‍सीन का परीक्षण किया गया था. इसके परिणाम अभी तक नहीं आए हैं. मॉडर्ना अब कोरोना वायरस वैक्सीन के अगले ट्रायल की तैयारी में जुट गई है. कंपनी कर बोलना है कि 27 जुलाई के आसपास इसके ट्रायल को प्रारम्भ किया गया. मॉडर्ना ने बोला कि वह अमरीका के 87 स्टडी लोकेशन पर इस वैक्सीन के ट्रायल का आयोजन करेगी. माना जा रहा है कि तीसरे चरण के ट्रायल के पास होने पर कंपनी कोई बड़ा ऐलान कर सकती है.

हावर्ड के पूर्व शोधकर्ता विलियम हसेल्‍टाइन के अनुसार वैक्‍सीन ने जिस स्‍तर का एंटीबॉडी विकसित किया है, वह 'सम्‍मानजनक' है. यह कोरोना वायरस के विरूद्ध संरक्षण देने में संभव है. ट्रायल के दौरान वैक्‍सीन के तीन डोज दिए गए थे. इस दौरान लोगों को हल्‍की थकान, शरीर में दर्द व सिर दर्द हुआ. करीब 40 फीसदी लोगों को वैक्‍सीन देने के बाद हल्‍का बुखार तक महसूस हुआ.

सबसे अधिक कोरोना प्रभावित क्षेत्रों में होगा ट्रायल

वैक्सीन का ट्रायल राजधानी वॉशिंगटन डीसी के अतिरिक्त देश के 30 अन्य राज्यों में होगा. वैक्सीन के लिए लोकेशन कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित टेक्सास, कैलिफोर्निया, फ्लोरिडा, जॉर्जिया, एरिज़ोना व उत्तरी व दक्षिण कैरोलिना में स्थित हैं. अमरीका सरकार ने मॉडर्ना को आर्थिक सहायत भी दी है. करीब आधा मिलियन डॉलर की आर्थिक सहायता भी दी है. इस वैक्सीन के पहले दो चरण के ट्रायल्स को लेकर कंपनी ने पास होने का दावा किया था. हालांकि, इससे जुड़े डेटा को शेयर नहीं किया है.