Tanzania का खदानकर्मी रातोंरात बना करोड़पति

Tanzania का खदानकर्मी रातोंरात बना करोड़पति

डोडोमा. तंजानियां का एक छोटा खदानकर्मी रातोंरात करोड़पति बना गया. उसने अपनी जिंदगी की सबसे बड़ी खोज की है. सैनीनियु लाइजर नाम के इस शख्स को दो बड़े तंजानाइट पत्थर मिले हैं. इनका कुल वजन 15 किलों बताया गया है. यह सबसे दुर्लभ पत्थरों में से एक है. इस खोज से उन्हें 34 लाख डॉलर यानी तकरीबन 25 करोड़ रुपये की रकम मिली है. यहां के खनन मंत्रालय से मोटी रकम पाकर वे रातोंरात करोड़पति बन गए हैं.

आभूषणों के लिए प्रयोग होने वाला एक प्रसिद्ध रत्न

यह पत्थर केवल उत्तरी तंजानिया में ही पाया जाता है. ये आभूषणों के लिए प्रयोग होने वाला एक प्रसिद्ध रत्न है. इसका प्रयोग अंगूठियों, ब्रेसलेट्स व नेकलेस में होता है. इसका प्रयोग अन्य तरह के ज्वेलरी को बनाने में भी होता है. यह भूमि पर मिलने वाले दुर्लभ रत्नों में से एक है.

इसकी मूल्य दुर्लभता के साथ तय होती है

इसकी मूल्य दुर्लभता के साथ तय होती है. इसका रंग जितना स्पष्ट होगा, उतनी इसकी मूल्य तय होती है. लाइजर ने बीते हफ्ते 9.2 किलो व 5.8 किलो वजन के इन कीमती पत्थरों को भूमि से निकाला है.

बड़े स्तर पर जश्न मनाएंगे

इसके पहले खनन करके निकाला गया सबसे बड़ा तंज़ानाइट पत्थर 3.3 किलो का था. लाइजर की इस बेशकीमती खोज के लिए राष्ट्रपति जॉन मैगुफुली ने फोन पर उन्हें शुभकामना दी. राष्ट्रपति के अनुसार छोटे खननकर्ताओं का यही लाभ है व इससे पता चलता है कि तंजानिया धनी है. 52 वर्ष के लाइजर की चार पत्नियां हैं. लाइजर का बोलना है कि वह इस उपलब्धि को लेकर बड़े स्तर पर जश्न मनाएंगे.

एक स्कूल बनाना चाहते हैं

लाइजर के अनुसार उनकी मन्यारा के सिमांजिरो जिले में पैसा निवेश करने की योजना है. वे एक शॉपिंग मॉल व एक स्कूल बनाना चाहते हैं. यह स्कूल अपने घर के पास बनाना चाहते हैं. इससे तमाम गरीब लोगों को लाभ हो सकेगा.

लाइजर एक छोटे खननकर्ता हैं, जिन्होंने सरकार से लाइसेंस हासिल किए हैं. मगर यहां पर बड़ी कंपनियों की माइंस के गैरकानूनी खनन जारी है. 2017 में राष्ट्रपति मैगुफुली ने मन्यारा में मेरेलानी माइनिंग साइट को सुरक्षित रखने के लिए 24 किलोमीटर का एक घेरा बनाया था. इसके लिए सेना भी दीवार बनाने के कार्य शामिल थी.