CIABC ने दस प्रदेश सरकारों से शराब की बिक्री की अनुमति देने का किया आग्रह

CIABC ने दस प्रदेश सरकारों से शराब की बिक्री की अनुमति देने का किया आग्रह

नई दिल्ली: कॉन्फेडरेशन ऑफ भारतीय अल्कोहलिक बेवरेजेज कंपनीज (CIABC) ने दस प्रदेश सरकारों से शराब की बिक्री की अनुमति देने का आग्रह किया है. संगठन ने बोला है कि लॉकडाउन के दौरान शराब की बिक्री पर पूरी तरह प्रतिबंध से गैरकानूनी एवं नकली शराब की बिक्री को बढ़ावा मिला है. CIABC का बोलना है कि इससे सरकारी खजाने को नुकसान हो रहा है. संगठन ने बोला है कि राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के चलते शराब की सभी होलसेल व रिटेल दुकानें बंद हैं. CIABC ने बोला है कि उसने दिल्ली, हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब, राजस्थान, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल व यूपी को इस विषय में लेटर लिखा है.

CIABC के महानिदेशक विनोद गिरी ने अपने लेटर में लिखा है कि प्रदेश में गैरकानूनी व नकली शराब की बिक्री से जुड़ी रिपोर्ट्स में वृद्धि हुई है. लेटर में बोला गया है कि इससे लोगों के स्वास्थ्य से जुड़ी गंभीर दिक्कतें पैदा हो सकती हैं व कानून-व्यवस्था पर भी इसका प्रभाव देखने को मिल सकता है.

संगठन ने सभी प्रदेश सरकारों से शराब से जुड़े सभी लाइसेंसों एवं मंजूरियों की मियाद को बढ़ाने का आग्रह भी किया है.

गिरी ने बोला कि शराब प्रदेश सरकारों के लिए आय का बड़ा जरूरी स्रोत है व शराब की रिटेल दुकानों को बंद किए जाने के कारण प्रदेश सरकारों को कर के रूप में राजस्व नहीं मिल रहा है जो कोरोनावायरस महामारी से लड़ाई के लिहाज से बहुत जरूरी है.

उन्होंने बोला कि कुछ लोगों को चिकित्सा कारणों से शराब की आवश्यकता होती है व इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए.