पाकिस्तान को बड़ा झटका: छह अरब डॉलर के राहत पैकेज की दूसरी समीक्षा अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने टाली

पाकिस्तान को बड़ा झटका: छह अरब डॉलर के राहत पैकेज की दूसरी समीक्षा अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने टाली

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने नकदी संकट से जूझ रहे पाक के लिए छह अरब डॉलर के राहत पैकेज की शुक्रवार को होने वाली दूसरी समीक्षा को यह कहते हुए टाल दिया है कि वह तय कार्रवाइयों को लागू करने में देरी कर रहा है. आईएमएफ के कार्यकारी बोर्ड ने पिछले वर्ष जुलाई में पाक को तीन वर्ष में छह अरब डॉलर का लोन देने को मंजूरी दी थी. बदले में पाक को कुछ बेहद कठोर तरीकों को लागू करना था. 

चीन, सऊदी अरब व यूएई से लोन के बाद भी पाक परेशान

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने सत्ता में आने के बाद एक बेलआउट पैकेज के लिए अगस्त 2018 में आईएमएफ से सम्पर्क किया था.  खान को बढ़ते आर्थिक संकट के कारण चीन, सऊदी अरब व यूएई से लोन लेने के बावजूद आईएमएफ का रुख करना पड़ा.  आईएमएफ ने राहत पैकेज की दूसरी समीक्षा को स्थगित किए जाने की पुष्टि की है, लेकिन बोला कि 1.4 अरब डॉलर के त्वरित वित्तपोषण सुविधा के लिए उसकी प्राथमिकताएं अब बदल गई हैं. 

पाकिस्तान के वित्त मंत्रालय ने द एक्सप्रेस ट्रिब्यून को बताया कि आईएमएफ ने 10 महीने पुराने ऋण प्रोग्राम की दूसरी समीक्षा को मंजूरी देने में किसी देरी के बारे में उसे नहीं बताया है.  सूत्रों ने बोला कि आईएमएफ बोर्ड अक्टूबर-दिसंबर 2019 के लिए दूसरी समीक्षा को 10 अप्रैल को मंजूरी देने के पाक के अनुरोध को शायद नहीं मानेगा.

पहले इस समीक्षा को मंजूरी देने के लिए छह अप्रैल की तारीख तय थी, जिसे बढ़ाकर आईएमएफ ने 10 अप्रैल कर दिया था. आईएमएफ ने दूसरी समीक्षा को मंजूरी देने के लिए नयी तारीख की घोषणा नहीं की है, लेकिन माना जा रहा है कि इसे अप्रैल में मंजूरी मिल जाएगी.