कोरोना के Omicron वेरिएंट के आने के बाद दुनिया भर की कंपनियों में डर

कोरोना के Omicron वेरिएंट के आने के बाद दुनिया भर की कंपनियों में डर

कंपनी के एग्जीक्यूटिव अपने कर्मचारियों के लिए अलग-अलग परमानेंट वर्क मॉडल पर विचार कर रहे हैं. उनके कर्मचारियों को वापस दफ्तर लाने की योजनाओं को कोरोना वायरस महामारी के Omicron वेरिएंट के फैलने से असर पड़ा है. यह वेरिएंट नया है. इसलिए कंपनियों को यह समझने में दिकक्त का सामना करना पड़ रहा है कि इससे उनके कामकाज और मुनाफे पर कैसे असर पड़ेगा.

ज्यादातर लोगों ने इस पर इंतजार करके फैसले लेने का विचार किया है. क्योंकि उन्हें इस बात को लेकर साफ तस्वीर नहीं मिली है कि यह वेरिएंट कितनी तेजी के साथ फैल सकता है और यह कितना नुकसान पहुंचा सकता है. हालांकि, अल्फाबेट इंक की गूगल ने अनिश्चितकाल के लिए दुनिया भर में अपनी दफ्तर में वापस लाने की योजना को टाल दिया है.

कंपनियां वर्किंग मॉडल पर कर रहीं दोबारा विचार

रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, लग्जरी टॉयलेट कंपनी Lixil कॉर्प के चीफ पीपल ऑफिसर Jin Montesano ने कहा कि कंपनी जापान के कड़े वर्क स्ट्रक्चर से पीछे हट गई है. उसने कोर वर्किंग घंटों को छोड़ दिया है और अब इसके बारे में दोबारा विचार कर रही है कि ऑफिस कैसा होना चाहिए.

रिपोर्ट के मुताबिक, Montesano ने काम के भविष्य पर एक पैनल चर्चा के दौरान कहा कि अब काम करने की जगह जैसी कोई चीज नहीं है. जहां भी आपका काम हो जाए, वह काम करने की जगह होती है. उन्होंने कहा कि हमें ऑफिस को दोबारा सोचने की जरूरत है. इस हफ्ते कई देशों ने बैन लगाए हैं या सफर पर ज्यादा सख्त टेस्टिंग के नियम लागू किए हैं. दक्षिण अफ्रीका में Omicron वेरिएंट के पहले मामले के सामने आने के बाद से पूरी दुनिया में इसे लेकर डर फैल गया है.

Philip Morris के सीईओ Jacek Olczak ने रॉयटर्स को कहा कि सब लोग यह सोच रहे हैं, कि चीजें सामान्य हो रही हैं, लेकिन यह सामान्य नहीं है. हब सब बदल गए हैं. बेनेफिट्स कंसल्टिंग कंपनी Aon Plc के चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ Neal Mills ने कहा कि उनकी टीम इस पूरे हफ्ते नए विकल्पों पर विचार करने के लिए क्लाइंट्स के साथ बैठकें कर रही है. उन्होंने कहा कि वे इस बात को देख रहे हैं कि उन्हें अपने द्वारा लिए गए कई फैसलों पर दोबारा विचार करने की जरूरत है. उन्हें देखना है कि जनवरी में कर्मचारियों को वापस दफ्तरों में लाने से वे किस स्तर का जोखिम उठा रहे हैं.


Youtube के इतिहास में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला वीडियो बना Baby Shark

Youtube के इतिहास में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला वीडियो बना Baby Shark

विस्तार वैसे तो यूट्यब पर हर रोज लाखों वीडियोज पब्लिश होते हैं, लेकिन कुछ वीडियोज ऐसे होते हैं जो इतिहास बना देते हैं। इन्हीं में से एक वीडियो है Baby Shark जिसने इतिहास बना दिया है। Baby Shark यूट्यूब के इतिहास में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला वीडियो है। 

Baby Shark वीडियो को 10 बिलियन यानी 100 करोड़ व्यूज मिले हैं। इससे पहले यूट्यूब पर किसी वीडियो को इतने व्यूज नहीं मिले हैं। Baby Shark के बाद दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा देखा जाने वाला वीडियो Despacito है जिसे 7.7 बिलियन व्यूज मिले हैं।

बेबी शार्क को दक्षिण कोरिया की एजुकेशनल इंटरटेनमेंट फर्म Pinkfong ने प्रोड्यूस किया है। इसमें कोरियन अमेरिकन सिंगर Segoine ने अपनी आवाज दी है। बेबी शार्क को 2016 में यूट्यूब पर अपलोड किया गया था। पिछले साल नवंबर में इस वीडियो को 7.04 बिलियन व्यूज मिले थे