लालू प्रसाद यादव आज आएंगे बिहार, अब पटना में और वजनदार दिखेगी RJD की 'लालटेन'

लालू प्रसाद यादव आज आएंगे बिहार, अब पटना में और वजनदार दिखेगी RJD की 'लालटेन'

राजद की लालटेन का वजन बढ़ने वाला है, वह भी मामूली नहीं, बल्‍क‍ि छह टन। जी जां, छह टन। इसे उठाने के लिए हाथ नहीं, क्रेन की जरूरत पड़ेगी। यह वजनदार लालटेन बिहार की राजधानी पटना में जल्‍द ही दिखेगी। राजद के प्रदेश कार्यालय में छह टन की लालटेन लगाने का काम लगभग पूरा हो गया है। इस लालटेन को अब पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद का इंतजार है। उद्घाटन की सारी तैयारी कर ली गई है। सोमवार की शाम लालू दिल्ली से पटना पहुंच रहे हैं। मंगलवार को सीबीआइ की विशेष अदालत में उन्हें पेश होना है। माना जा रहा है कि अगले दिन राजद कार्यालय में लगी लालटेन का वह उद्घाटन कर सकते हैं। लालटेन राजद का चुनाव चिह्न भी है।


राजद कार्यालय में डेढ़ महीने से चल रही लालटेन को लगाने की तैयारी

राजद कार्यालय में इसे लगाने की तैयारी पिछले डेढ़ महीने से की जा रही है। अब कार्यालय को पर्दा से घेरकर असेंबल किया जा रहा है। मुख्य गेट पर ताला भी डाल दिया गया है, ताकि किसी बाहरी का आना-जाना न हो सके। कहा जा रहा है कि उद्घाटन के वक्त ही पर्दा और ताला खुलेगा। राजस्थान से खास तौर पर मंगाई गई छह फीट ऊंची इस लालटेन की खासियत है कि दिन-रात जलेगी। ईंधन के रूप में गैस का इस्तेमाल होगा।

लालटेन को स्‍वचालित तरीके से होती रहेगी गैस की सप्‍लाई

इसमें व्यवस्था ऐसी की गई है कि बुझने से पहले लालटेन में गैस अपने आप भर जाएगी। इसे अलग-अलग हिस्सों में राजस्थान से मंगाया गया है। कार्यालय परिसर में मुख्य भवन के सामने लगाने की तैयारी है, ताकि बाहर से आने वाले कार्यकर्ता इसे देख सकें। इसके लिए एक चबूतरा तैयार किया गया है। इस लालटेन का अनावरण समारोहपूर्वक करने की तैयारी है। इसे देखते हुए पार्टी कार्यालय में तैयारी जोर-शोर से चल रही है।


नालंदा में सड़क दुर्घटना में वार्ड सदस्य और उसके साथी की मौत, पूर्व मुखिया पर परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

नालंदा में सड़क दुर्घटना में वार्ड सदस्य और उसके साथी की मौत, पूर्व मुखिया पर  परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

बिहार के नालंदा (Nalanda Bihar) के नूरसराय थाना इलाके के बिहारी मकनपुर छिलका के समीप बुधवार की देर शाम सड़क हादसे में जख्मी वार्ड सदस्य की मौत इलाज के दौरान हो गई. मृतक जगदीशपुर तियारी गांव निवासी राजेंद्र प्रसाद का 48 वर्षीय पुत्र रंजीत कुमार हैं. वार्ड सदस्य की मौत के बाद परिजन इसे चुनावी रंजिश में हत्या बता रहे हैं.

परिजनों के हत्या की आरोप के बाद पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है. मृतक के भाई ने आरोप लगया है कि उनके भाई को जानबूझकर ट्रक से टक्कर मारकर हत्या कर दी गई. दुर्घटना बुधवार को हुआ था. जब वार्ड सदस्य रंजीत कुमार उदय कुमार के साथ कहीं से आ रहे थे. इसी दौरान पीछे से आ रही एक ट्रक ने उनकी मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी थी. जिसके बाद उदय कुमार की मौत हो गई थी. वहीं रंजीत कुमार गंभीर रूप से घायल हो गए थे. इसके बाद अस्पताल में उनका इलाज कराया जा रहा था. जहां गुरुवार की रात उनकी मौत हो गई.

पूर्व मुखिया पर आरोप

मृतक के भाई ने इस मामले में बताया कि पंचायत चुनाव में उसका भाई रंजीत वार्ड सदस्य चुना गया. इस चुनाव में घर के दूसरे सदस्य भी चुनाव लड़ रहे थे. इधर पूर्व मुखिया चुनाव में अपने हार का कारण रंजीत और परिवार के सदस्य को बता रहा था. इसी चुनावी रंजिश में जानबूझकर सड़क हादसा का रूप देकर उनके भाई की हत्या करवा दी गई.

“ट्रक से टक्कर मारकर हत्या”

मृतक के भाई का आरोप है कि जब रंजीत अपने एक और साथी के साथ बाइक से लौट रहा था तो उस वक्त ट्रक सड़क किनारे खड़ी थी. जैसे ही वह आगे बढ़ा कि पीछे से आकर ट्रक ने बाइक में जबरदस्त टक्कर मार दी. जिससे इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. मामले में नूरसराय पुलिस अस्पताल पहुंचकर शव का पोस्टमार्टम करवाने की प्रक्रिया में जुट गई है.

मामले की जांच कर रही है पुलिस

इधर हत्या के लग रहे आरोपों पर थाना अध्यक्ष वीरेंद्र चौधरी ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है. जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि यह सड़क हादसा है या साजिश के तहत हत्या कराई गई है. गांव में दो दिनों के भीतर दो लोगों की मौत से कोहराम मत गया है.मृतक के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है.