छपरा में सीएसपी संचालक से 1.55 लाख की लूट, अपराधियों ने दिनदहाड़े दिया वारदात को अंजाम

छपरा में सीएसपी संचालक से 1.55 लाख की लूट, अपराधियों ने दिनदहाड़े दिया वारदात को अंजाम

सारण जिले के गड़खा थाना क्षेत्र में अपराधियों ने एक सीएसपी संचालक से करीब डेढ़ लाख रुपये लूट लिए। घटना गड़खा-खोदाईबाग मुख्‍य सड़क की है। सूचना पर पहुंची पुलिस जांच-पड़ताल में जुटी है। इस बाबत सीएसपी संचालक आशुतोष कुमार ने थाने में शिकायत की है।

आशुतोष कुमार ने बताया कि वह कदना में इंडियन बैंक का सीएसपी चलाता है। आज स्‍थानीय इंडियन बैंक की शाखा से उसने 1 लाख 60 हजार रुपये की निकासी थी। उसे लेकर वह बाइक से लौट रहा था। इसी दौरान पीछा करते बाइक सवार छह युवक पहुंचे। उनलोगों ने बाइक में धक्‍का मारकर गिरा दिया। गिरते ही वे आकर मारपीट करने लगे। इसके बाद पास से रुपये, मोबाइल और एटीएम कार्ड आदि छीनकर भाग गए। 


नालंदा में सड़क दुर्घटना में वार्ड सदस्य और उसके साथी की मौत, पूर्व मुखिया पर परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

नालंदा में सड़क दुर्घटना में वार्ड सदस्य और उसके साथी की मौत, पूर्व मुखिया पर  परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

बिहार के नालंदा (Nalanda Bihar) के नूरसराय थाना इलाके के बिहारी मकनपुर छिलका के समीप बुधवार की देर शाम सड़क हादसे में जख्मी वार्ड सदस्य की मौत इलाज के दौरान हो गई. मृतक जगदीशपुर तियारी गांव निवासी राजेंद्र प्रसाद का 48 वर्षीय पुत्र रंजीत कुमार हैं. वार्ड सदस्य की मौत के बाद परिजन इसे चुनावी रंजिश में हत्या बता रहे हैं.

परिजनों के हत्या की आरोप के बाद पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है. मृतक के भाई ने आरोप लगया है कि उनके भाई को जानबूझकर ट्रक से टक्कर मारकर हत्या कर दी गई. दुर्घटना बुधवार को हुआ था. जब वार्ड सदस्य रंजीत कुमार उदय कुमार के साथ कहीं से आ रहे थे. इसी दौरान पीछे से आ रही एक ट्रक ने उनकी मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी थी. जिसके बाद उदय कुमार की मौत हो गई थी. वहीं रंजीत कुमार गंभीर रूप से घायल हो गए थे. इसके बाद अस्पताल में उनका इलाज कराया जा रहा था. जहां गुरुवार की रात उनकी मौत हो गई.

पूर्व मुखिया पर आरोप

मृतक के भाई ने इस मामले में बताया कि पंचायत चुनाव में उसका भाई रंजीत वार्ड सदस्य चुना गया. इस चुनाव में घर के दूसरे सदस्य भी चुनाव लड़ रहे थे. इधर पूर्व मुखिया चुनाव में अपने हार का कारण रंजीत और परिवार के सदस्य को बता रहा था. इसी चुनावी रंजिश में जानबूझकर सड़क हादसा का रूप देकर उनके भाई की हत्या करवा दी गई.

“ट्रक से टक्कर मारकर हत्या”

मृतक के भाई का आरोप है कि जब रंजीत अपने एक और साथी के साथ बाइक से लौट रहा था तो उस वक्त ट्रक सड़क किनारे खड़ी थी. जैसे ही वह आगे बढ़ा कि पीछे से आकर ट्रक ने बाइक में जबरदस्त टक्कर मार दी. जिससे इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. मामले में नूरसराय पुलिस अस्पताल पहुंचकर शव का पोस्टमार्टम करवाने की प्रक्रिया में जुट गई है.

मामले की जांच कर रही है पुलिस

इधर हत्या के लग रहे आरोपों पर थाना अध्यक्ष वीरेंद्र चौधरी ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है. जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि यह सड़क हादसा है या साजिश के तहत हत्या कराई गई है. गांव में दो दिनों के भीतर दो लोगों की मौत से कोहराम मत गया है.मृतक के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है.