कई विद्यालयों को बम से उड़ाने की धमकी के ईमेल प्राप्त ,मचा हंगामा

कई विद्यालयों को बम से उड़ाने की धमकी के ईमेल प्राप्त ,मचा हंगामा

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक साथ कई विद्यालयों को बम से उड़ाने की धमकी के ईमेल प्राप्त होने के बाद हंगामा मच गया है. सूचना के बाद बम डिस्पोजल स्क्वाड, डॉग स्क्वाड सहित पुलिस टीम विद्यालयों में तहकीकात करने पहुंच गई. हालांकि, अभी तक किसी विद्यालय में बम नहीं मिला है.

वही जिला शिक्षा अफसर नितिन सक्सेना ने बताया कि सागर पब्लिक स्कूल, DPS सहित कई विद्यालयों को बम से उड़ाने की धमकी के ईमेल मिले हैं. तत्पश्चात, सुरक्षा एजेंसियां विद्यालयों की तहकीकात तथा ईमेल को वेरिफाई कर रही है. भोपाल के सेंट जोसफ विद्यालय में बम की सूचना के पश्चात् हबीबगंज पुलिस और बम डिस्पोजल स्क्वायड, डॉग स्क्वायड मौके पर पहुंच गए. बैरोगढ़ चिचली उपस्थित डीपीएस विद्यालय तथा सनखेड़ी उपस्थित सेज विद्यालय में भी बम की समाचार प्राप्त हुई. अभी तक किसी भी विद्यालय में बम नहीं मिला है. पुलिस की टीम विद्यालयों को धमकी के मिले ई-मेल की भी तहकीकात में जुट गई है. 

वही राज्य को लेकर एक समाचार सामने आ रही है जिसमे बताया जा रहा कि यूपी के बाद मध्यप्रदेश के भी मदरसों में राष्ट्रगान जरूरी हो सकता है. गृह मंत्री तथा गवर्नमेंट के प्रवक्ता नरोत्तम मिश्रा ने इसके संकेत दिए हैं. गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) ने कहा कि राष्ट्र का राष्ट्रगान है राष्ट्रगान सब जगह पर जरूरी होना चाहिए. मदरसे में राष्ट्रगान की अनिवार्यता पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बोला कि यह विचारणीय बिंदु है, इस पर विचार किया जा सकता है. धार्मिक स्थल क्या सभी स्थानों पर राष्ट्रगान होना चाहिए. यह राष्ट्र का स्वाभिमान है. दरअसल, उत्तर प्रदेश गवर्नमेंट ने प्रदेश के मदरसा में सभी विद्यार्थियों तथा अध्यापकों के लिए कक्षाएं आरम्भ करने से पहले राष्ट्रगान गाना जरूरी कर दिया है. यह आदेश 12 मई से लागू कर दिया गया है. 


कोल्ड ड्रिंक में मिली मरी हुई छिपकली

कोल्ड ड्रिंक में मिली मरी हुई छिपकली

गुजरात के महानगर अहमदाबाद में कोल्ड ड्रिंक के ऑर्डर देने पर उसमें एक ग्राहक को मरी हुई छिपकली मिली. इसके बाद इस ग्राहक ने इसकी कम्पलेन खाद्य सुरक्षा ऑफिसरों से की. अहमदाबाद नगर निगम ने शनिवार को सोला में मैकडॉनल्ड्स के आउटलेट को सील कर दिया. एएमसी खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने एक कस्टमर की कम्पलेन पर यह कदम उठाया. मीडिया रिपोट्र्स के अनुसार, अहमदाबाद नगर निगम ने निर्देश दिया कि आउटलेट को उसकी पूर्व अनुमति के बिना अपने परिसर को फिर से खोलने की अनुमति नहीं है.

दरअसल, भार्गव जोशी नाम के एक कस्टमर ने शनिवार को अपनी कोल्ड ड्रिंक में छिपकली तैरते हुए का वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किया था. भार्गव जोशी और उनके दोस्तों का आरोप है कि वे सोला में मैकडॉनल्ड्स के आउटलेट पर 4 घंटे से अधिक समय तक बैठे रहे क्योंकि उन्होंने उनकी कम्पलेन पर ध्यान देने के लिए किसी की प्रतीक्षा की. वे कहते हैं कि कर्मचारियों ने उन्हें 300 रुपये की वापसी की पेशकश की. भार्गव जोशी ने सील किए गए आउटलेट की एक तस्वीर साझा की और अच्छे काम के लिए एएमसी की सराहना की.
मैकडॉनल्ड्स ने कही ये बात
इस बीच, मैकडॉनल्ड्स का बयान भी सामने आया है. जिसमें बोला गया, मैकडॉनल्ड्स में, हम अपने सभी ग्राहकों की सुरक्षा और स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. गुणवत्ता, सेवा, स्वच्छता और मूल्य हमारे व्यवसाय संचालन के मूल में हैं. इसके अलावा, हमारे गोल्डन गारंटी कार्यक्रम के हिस्से के रूप में, हमने अपने सभी मैकडॉनल्ड्स रेस्तरां में 42 कठोर सुरक्षा और स्वच्छता प्रोटोकॉल लागू किए हैं, जिसमें नियमित रूप से रसोई और रेस्तरां की सफाई और स्वच्छता के लिए कठोर प्रक्रियाएं शामिल हैं. हम इस घटना की जांच कर रहे हैं जो कथित तौर पर अहमदाबाद आउटलेट पर हुई थी. जबकि हमने बार-बार जांच की है और कुछ भी गलत नहीं पाया है, हम एक अच्छे कॉर्पोरेट नागरिक होने के नाते ऑफिसरों के साथ योगदान कर रहे हैं.