छेड़खानी का विरोध करने पर बच्ची को जिंदा जलाया

छेड़खानी का विरोध करने पर बच्ची को जिंदा जलाया

मुंगेली: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुंगेली (Mungeli) जिले के ग्रामीण इलाके में दिल दहला देने वाली वारदात (Crime) को अंजाम दिया गया है। घटना मुंगेली के नजदीक एक गांव की है, जहां मासूम बालिका (14 वर्षीय) घर पर अकेली थी व उसके परिजन किसी कार्य से बाहर गए थे। उसी वक्‍त गांव का ही एक पड़ोसी युवक बदनीयती से बालिका के घर मे घुस गया व नाबालिग से बलात्कार का कोशिश करने लगा, जिसका नाबालिग ने पुरजोर विरोध किया। नाबालिग के विरोध से बौखलाए आरोपी युवक ने अपने साथ लाये मिट्टी ऑयल (केरोसिन) छिड़क कर नाबालिग को जिंदा जला दिया। उपचार के दौरान बच्‍ची की मृत्यु हो गई।

आग से जलती हुई मासूम चीखते चिल्लाते घर से बाहर निकली, जिससे आसपास उपस्थित ग्रामीणों ने भारी मशक्कत के बाद आग बुझाया व 108 संजीवनी वाहन से उसे जिला अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में जिंदगी व मृत्यु से लड़ती नाबालिग ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। मुद्दे की जानकारी लगते ही मुंगेली पुलिस तत्काल हरकत में आई व आरोपी बबलू भास्कर को गिरफ्तार किया गया। एसडीओपी तेजराम पटेल ने बताया कि आरोपी बबलू भास्कर को पुलिस हिरासत में लेकर आगे की कानूनी कार्रवाई की जा रही है। घटना बीते बुधवार की बताई जा रही है।

नाबलिग ने दर्ज कराया बयान

पुलिस ने बताया कि नाबालिग ने मृत्यु से पहले बयान भी दिया है। इसके आधार पर कार्रवाई की जा रही है। इस घटना से ग्रामीणों में आक्रोश है। वहीं, सप्ताह भर में मुंगेली में नाबालिगों से दुराचार की यह चौथी घटना है। इससे कुछ दिन पहले बेमेतरा में भी एक नाबालिग से खेत में बलात्कार का कोशिश किया गया। विरोध करने पर उसे जिंदा जला दिया गया था। इस बच्ची की भी उपचार के दौरान रायपुर के एक अस्पताल में मृत्यु हो गई थी। इस मुद्दे में आरोपियों की संख्या एक से अधिक बताई गई है।