हैदराबाद में 29 वर्ष के एक युवक को अवैध रूप से आईडी प्रमाण-पत्र हासिल करने के आरोप में अरैस्ट 

 हैदराबाद में 29 वर्ष के एक युवक को अवैध रूप से आईडी प्रमाण-पत्र हासिल करने के आरोप में अरैस्ट 

हैदराबाद: हैदराबाद में 29 वर्ष के एक रोहिंग्या आदमी को बीते बुधवार को गिरफ्त में ले लिया गया है। जी दरअसल वह खुद को एक भारतीय के रूप में पेश कर रहा था। इसी वजह से उसे गैरकानूनी रूप से मतदाता पहचान लेटर व आधार कार्ड तथा अन्य आईडी प्रमाण-पत्र हासिल करने के आरोप में अरैस्ट कर लिया गया है। इस मुद्दे के बारे में जानकारी पुलिस ने दी है। आप सभी को बता दें कि हैदराबाद पुलिस ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी है।

उसमे उन्होंने बोला आरोपी ने इसके लिए एक लोकल आदमी को पैसे दिए, जो यहां एक औनलाइन सेवा केन्द्र पर कार्य करता है। इसी के साथ गैरकानूनी रूप से अपने व्यक्तिगत विवरण व मूल राष्ट्रीयता को छिपाकर गलत विवरण भरकर दस्तावेज बनवा लिया। जारी की गई प्रेस विज्ञप्ति में यह भी बोला गया कि, 'रोहिंग्या आदमी म्यामां से बांग्लादेश आने के बाद 2009 में हिंदुस्तान आ गया था व जम्मू और कश्मीर में रुका गया था। ' इसके अतिरिक्त पुलिस ने यह भी बोला कि, उसके बाद वर्ष 2011 में, वह हैदराबाद के लिए निकल गया। वहीं संयुक्त राष्ट्र के शरणार्थी उच्चायुक्त (यूएनएचसीआर) के पास उसने अपना नाम दर्ज करवा दिया। '

जी दरअसल उसने यूएनएचसीआर कार्ड भी रखा है व इस समय वह एक मेहनतकश बनकर कार्य कर रहा है। पुलिस का बोलना है कि, 'उसने गरीब हिंदुस्तानियों के लिए सरकार द्वारा प्रारम्भ की गईं सभी कल्याणकारी योजनाओं का फायदा उठाया। ' इसी के साथ बताया जा रहा है पुलिस ने आरोपी के पास से यूएनएचसीआर कार्ड के अतिरिक्त मतदाता पहचान-पत्र व आधार कार्ड भी जब्त कर लिया है।