लॉकडाउन से बिगड़ी घर की आर्थिक स्थिति, तो पति- पत्नी बन गए चोर

लॉकडाउन से बिगड़ी घर की आर्थिक स्थिति, तो पति- पत्नी बन गए चोर

कोरोना वायरस पर रोकथाम के लिए लगाए गए लॉकडाउन ने अधिकतर लोगों की आर्थिक स्थिति बिगाड़ दी है. ऐसे की एक मुद्दे में घर की आर्थिक स्थिति बिगड़ने पर परिजनों के लिए राशन लाने के लिए एक दंपति क्रिमिनल बन गए. संसद मार्ग थाना पुलिस ने रविवार को दंपति का पीछा कर नेशनल म्यूजियम के पास से अरैस्ट कर लिया. आरोपी दंपति राकेश और वैजयंती के पास से पुलिस ने चोरी की स्कूटी बरामद की है.

पुलिस उपायुक्त भगवान सिंघल ने बताया 23 मई को अशोका रोड पर खड़ी कार की खिड़की का शीशा तोड़कर लैपटॉप, एक टीबी हार्ड डिस्क व अन्य दस्तावेज चोरी का मुद्दा सामने आया. एक जून को विंडसर प्लेस के पास खड़ी फॉर्च्यूनर कार के पीछे का शीशा तोड़कर चोरी का कोशिश किया गया, लेकिन शीशा टूटने के कारण कार का अलार्म बजने पर कार मालिक बाहर आ गया व बदमाश मौके से भाग निकले. दोनों मामलों की जाँच के दौरान इलाके में लगे कई सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के आधार पर एक संदिग्ध युवक व एक युवती को काले व लाल रंग की स्कूटी पर देखा गया. स्कूटी पर आगे की नंबर प्लेट नहीं थी व पीछे की नंबर प्लेट पर भी तीसरा नंबर हटा दिया गया था.

आरोपियों को पकड़ने के लिए संसद मार्ग थाने की कई टीमें बनाई गईं. 13 जून को विजय चौक पर राजपथ से सिपाही कुलदीप ने उसी स्कूटी पर युवक व युवती को आते देखा. कुलदीप ने उन्हें रुकने का संकेत किया, लेकिन दोनों भागने लगे. कुलदीप ने उनका पीछा किया. दोनों जनपथ की ओर से मान सिंह रोड व फिर अकबर रोड व उसके बाद सी-हेक्सागन की तरफ गलत दिशा से भागने लगे.

इसी बीच तिलक मार्ग थाने के सिपाही सुमित ने कुलदीप को स्कूटी का पीछा करते देखा तो वह भी स्कूटी का पीछा करने लगा. दोनों सिपाहियों ने नेशनल म्यूजियम के पास दोनों को पकड़ लिया. पूछताछ में राकेश ने बताया कि युवती उसकी पत्नी है. दोनों मिलकर कार के शीशे तोड़कर कई स्थान चोरी कर चुके हैं.