Delhi Police नहीं ढूंढ पाई जज की चोरी हुई कार

Delhi Police नहीं ढूंढ पाई जज की चोरी हुई कार

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वाहन चोरी की घटनाएं ( Vehicle theft incidents in Delhi ) लगाता बढ़ती जा रही है. ऐसे में हर रोज दर्ज होने वाले वाहन चोरी के मामलों का क्या हश्र होता होगा, इसका अनुमान इस बात से लगाया जा सकता है कि यहा दिल्ली पुलिस ( Delhi Police ) एक जज की चोरी हुई कार ( Stolen Car) का पता लगाने में नाकाम साबित हुई. चूंकि जज से जुड़ा होने के कारण वाहन चोरी का यह हाई प्रोफाइल्ड मुद्दा था, इसलिए पुलिस पर दबाव भी बहुत ज्यादा था. लेकिन आखिर में पुलिस ने हाथ खड़े कर दिए व न्यायालय से केस बंद करने की मांग की. दरअसल, इसी वर्ष अप्रैल में दिल्ली से एक जज की कार चोरी हो गई. जिसके बाद दिल्ली पुलिस ( Delhi Police ) ने जिला न्यायालय ( District Court ) में यह केस को बंद करने के लिए याचिका डाली दी.

जानकारी के अनुसार पहले तो पुलिस गाड़ी ढूंढने का लगातार आश्वासन देती रही. तब जज के पास कार की ओवरस्पीडिंग का चालन तक पहुंच गया. जज के परिवार की मानें तो यह चालान 22 मई का है. मतलब यह चालान गाड़ी चोरी होने के दो माह बाद का है. बावजूद इसके पुलिस चोरों को तलाश नहीं कर पाई. जज के एक सम्बन्धी के अनुसार ई-चालान से स्पष्ट ओ गया है कि गाड़ी का चालान उनके घर के 10 किमी के दायरे में ही हुआ है. जिसके बाद उन्होंने ई-चालान की फोटोज़ आईओ को भेजी. बावजूद इसके पुलिस ने केस में क्लोजर रिपोर्ट लगा दी.

एक सम्बन्धी ने जानकारी देते हुए बताया कि शुरुआती दौर में ऐसा लगा कि शायद गाड़ी के पुर्जों को बेच दिया गया है. अब चूंकि हमें ई—चालान मिल गया है तो ऐसा लगता है कि अभी तक गाड़ी शहर के बाहर नहीं गई है. यहां तक चोरों ने गाड़ी की नंबर प्लेट भी नहीं बदली है. जज के परिवार के मुताबिक उन्हें गाड़ी की सीसीटीवी फुटेज के साथ चालान की जो कॉपी मिली है, उसमें कार का हुलिया साफ समझ आ रहा है.