लॉकडाउन में औनलाइन बेच रहे थे सिगरेट, दो आरोपी को पुलिस ने किया अरैस्ट

लॉकडाउन में औनलाइन बेच रहे थे सिगरेट, दो आरोपी को पुलिस ने किया अरैस्ट

नई दिल्ली: देशभर में कोरोनावायरस ( Coronavirus ) के बढ़ते खतरे के बीच लॉकडाउन ( Lockdown ) को एक महीना होने जा रहा है. 25 मार्च से लगे लॉकडाउन की वजह से कोरोना को मात देने में तो बहुत ज्यादा हद तक सफलता मिली है, लेकिन कुछ समस्याओं ने सरकार की चुनौतियां बहुत ज्यादा बढ़ा दी है.

लॉकडाउन का सबसे ज्यादा प्रभाव नशीले पदार्थों का सेवन करने वालों पर पड़ा है. क्योंकि लॉकडाउन के दौरान केवल आवश्यक वस्तुओं की दुकानें व सेवाओं को छोड़कर सभी व्यापार बंद हैं.

सरकार की ओर से लगाई गई पाबंदियों के बाद भी कई जगहों पर नशे का कारोबार जारी है. बेंगलुरु ( Bengaluru ) में ऐसे ही नशे के कारोबार को औनलाइन ( Online sell ) अंजाम दे रहे दो शख्स को पुलिस ने हिरासत में लिया है.

बेंगलूरु में अपराध ब्रांच ने नशे के ऐसे ही दो सौदागरों को पकड़ा है, जो सिगरेट की औनलाइन ( Online cigarettes sale ) बिक्री कर रहे थे. इनके पास से लगभग 30000 रुपये मूल्य की सिगरेट भी बरामद की गई है. पुलिस वैसे दोनों को अरैस्ट कर कारागार भेज दिया है.

रंगे हाथों दबोचा
बेंगलूरु सिटी अपराध ब्रांच ने सूचना के आधार पर जाल बिछाया व फिर इन दोनों ही सौदागरों को उस वक्त पकड़ा जब दोनों सिगरेट की डिलीवरी देने जा रहे थे. अरैस्ट किए गए दोनों के नाम अख्तर मिर्जा व तबुद्दीन मोहिद्दिन बताया जा रहा है.

पुलिस ने दोनों के विरूद्ध संबंधित धाराओं में मुद्दा दर्ज कर कारागार भेज दिया है. आरोपियों के पास से 30 हजार रुपए मूल्य की सिगरेट बरादम की गई है. जबकि औनलाइन ये लोग 450 ब्रांड्स की सिगरेट बेच रहे थे.

सिर्फ इन कारोबारों को अनुमति
आपको बता दें कि कोरोना वायरस की वजह से लगाए गए लॉकडाउन के दौरान सिर्फ राशन, सब्जी-फल, दवा की दुकानें ही खुल रही हैं. अब गर्मी को देखते हुए गृह मंत्रालय ने पंखे व स्टेशनरी की दुकानें खोलने की अनुमति भी दे दी है.

पाबंदी के बावजूद सिगरेट के व्यवसाय से जुड़े लोगों ने नया रास्ता अख्तियार कर इसकी औनलाइन बिक्री प्रारम्भ कर दी थी. जिसकी सूचना मिलते ही अपराध ब्रांच ने इन्हें रंगे हाथों अरैस्ट कर लिया.