एनकाउंटर के डर से थाने पहुंचा आरोपी

एनकाउंटर के डर से थाने पहुंचा आरोपी

उत्तर प्रदेश के शामली जनपद में मंगलवार को एक गोकशी का आरोपी आत्मसमर्पण के लिए कोतवाली पहुंच गया। इस दौरान उसके हाथों में अपराध से तौबा-तौबा लिखा हुआ एक पर्चा भी था। वहीं 15 दिन पूर्व गोकशी की सूचना पर पुलिस ने एक मकान पर छापा मारा था। जहां से यह आरोपी फरार हो गया था।

बताया गया कि 21 जुलाई की शाम करीब 5:30 बजे कैराना पुलिस ने गांव भूरा में एक मकान में गोकशी पकड़ी थी। पुलिस ने मौके से गोकशी कर रहे आरोपी यूसुफ निवासी गांव भूरा को गिरफ्तार कर लिया था, जबकि तीन आरोपी एहसान, आरिफ व नसीम मौके से फरार हो गए थे। पांच दिन बाद फरार तीन आरोपियों में से आरिफ व नसीम को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर चालान कर दिया था, लेकिन एहसान निवासी गांव भूरा फरार चल रहा था। 
एहसान मंगलवार को अपने हाथों में अपराध से तौबा-तौबा लिखा एक पर्चा लेकर कोतवाली पहुंचा और प्रभारी प्रेमवीर राणा के सामने पेश हुआ। उसने बताया कि उस पर गोकशी के दो मुकदमे दर्ज हैं, लेकिन मैं अब से अपराधों से तौबा करना चाहता हूं। मुझे आप गिरफ्तार कर जेल भेज दीजिए।

कोतवाली प्रभारी प्रेमवीर राणा ने बताया कि आरोपी के खिलाफ गोकशी के दो मुकदमे दर्ज मिले हैं। एहसान ने खुद कोतवाली में आकर अपराध से तौबा की। आरोपी का चालान कर दिया गया है। 

वहीं आरोपी ने बताया कि पुलिस कही उसका एनकाउंटर न कर दे, इसलिए भी उसने कोतवाली में आत्मसमर्पण किया है। वह अब अपराध से दूर रहना चाहता है।