यूपी सरकार का नि:शुल्क राशन वितरण बंद, लेकिन फिर भी फ्री में मिलेगा अनाज

यूपी सरकार का नि:शुल्क राशन वितरण बंद, लेकिन फिर भी फ्री में मिलेगा अनाज

राशन कार्ड धारकों को एक जरूरी खबर जान लेनी चाहिए। उत्तर प्रदेश में राशन कार्ड धारकों को प्रत्येक महीने दो बार निशुल्क राशन दिया जा रहा था। लेकिन इस बार से इसे बंद कर दिया गया है। निश्‍शुल्‍क राशन सेवा बंद होने के कारण इस बार केवल एक माह में सिर्फ एक बार ही फ्री में राशन मिलेगा। यह फ्री राशन केंद्र सरकार की ओर से दिया जाएगा, जबकि अब यूपी सरकार की ओर से फ्री राशन सेवा बंद रहेगी और इसके लिए कुछ रुपये चुकाने होंगे।

यूपी सरकार की ओर से एक बार का निश्शुल्क राशन इस माह से बंद कर दिया गया है। इस माह पांच सितंबर से 15 सितंबर तक निश्शुल्क राशन दिया गया है। 20 सितंबर से फिर हर माह की तरह वितरण शुरू होगा, लेकिन इसका शुल्क चुकाना होगा। शुल्क वही रहेगा, गेहूं का प्रति किग्रा 2 रुपये और चावल का 3 रुपये। नए बदलाव के तहत अब सिर्फ महीने में एक बार ही निशुल्क राशन मिलेगा जबकि दूसरी बार की खरीद पर उन्हें पहले की ही तरह शुल्क चुकाना होगा।


इस योजना को इस तरह से समझें

पिछले साल लॉकडाउन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत निशुल्क राशन का वितरण शुरू किया था। उसी तरह से मोदी सरकार ने इस बार भी राशन का वितरण जारी रखा है। मोदी सरकार की योजना के तहत खाद्यान्न का वितरण दिवाली तक यानी नवंबर माह तक होगा। इसके तहत राशन कार्ड धारकों को दो किलोग्राम गेहूं और 3 किलोग्राम चावल दिया जाता है। इस साल इसी में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी राज्य सरकार की ओर से भी निशुल्क राशन देने की घोषणा की थी। योगी सरकार की तरफ से जून से निशुल्क राशन वितरण किया जा रहा था। योगी सरकार की योजना के तहत सिर्फ 3 माह तक का ही प्रावधान किया गया था। जून जुलाई और अगस्त यानी राज्य सरकार की तरफ से जो निशुल्क खाद्यान्न का वितरण किया जा रहा था उसकी समय सीमा समाप्त हो गई है। 


सीएम योगी का निर्देश- जमाखोरों व मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई करें, नियंत्रण में आएगी महंगाई

सीएम योगी का निर्देश- जमाखोरों व मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई करें, नियंत्रण में आएगी महंगाई

उत्तर प्रदेश में खाद्य तेलों के साथ अन्य उत्पादों के तेजी से बढ़ते दाम पर अब सीएम योगी आदित्यनाथ बेहद गंभीर हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने लोक भवन में उच्च सतरीय टीम -09 के साथ बैठक के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने टीम को सख्त एक्शन लेने का निर्देश दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सब्जियों, खाद्य तेलों और दाल के मूल्य में अचानक तेजी देखी जा रही है। भारत सरकार ने इस संबंध में स्टॉक लिमिट भी तय की है। इसी कारण जमाखोरों के खिलाफ छापेमारी कर सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि सभी जगह मूल्य नियंत्रित रहें। इसके लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएं। इतना ही नहीं त्योहारों के दृष्टिगत खाद्य सामग्री में मिलावटखोरी की हर शिकायत का गंभीरता से संज्ञान लेते हुए सख्त कार्रवाई की जाए।


जनपदों में 28 से दीपावली मेला

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के सभी जनपदों में 28 अक्टूबर से दीपावली मेले का आयोजन प्रारंभ हो रहा है। दीपावली मेले में स्थानीय शिल्पकला, व्यंजन आदि उत्पादों को प्रोत्साहित किया जाए। इन मेलों में स्थानीय जनप्रतिनिधियों की सहभागिता होगी। अधिकाधिक जनता को मेले से जोडऩे का प्रयास हो।

मौसम जनित बीमारियों का तेजी से हो इलाज


मुख्यमंत्री ने कहा कि डेंगू, कॉलरा, डायरिया मलेरिया सहित वायरल से प्रभावित जनपदों में विशेष सतर्कता बरती जाए। एटा, मैनपुरी और कासगंज में विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम पहुंच गई है, विशेषज्ञों की यह टीम स्थानीय चिकित्सकों का मार्गदर्शन करेगी। अस्वस्थ लोगों के उपचार के लिए सभी अस्पतालों में प्रबंध किए गए हैं। सर्विलांस को बेहतर करते हुए हर एक मरीज के स्वास्थ्य की सतत निगरानी की जाए। बचाव के लिए व्यापक स्वच्छता, सैनिटाइजेशन और फॉगिंग का कार्य सतत जारी रखें। सभी जगह पर निगरानी समितियों को एक्टिव करने की जरूरत है।