CM योगी के अब्बाजान के बयान पर ओवैसी का तंज

CM योगी के अब्बाजान के बयान पर ओवैसी का तंज

उत्तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी के सौ से अधिक प्रत्याशी उतारने की तैयारी में लगे हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अब्बाजान के बयान पर तंज कसा है। ओवैसी ने रविवार के सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान पर कहा कि इन्होंने तो उत्तर प्रदेश में कुछ भी काम नहीं किया है। अगर कुछ काम करते तो फिर इनको आज इनको प्रदेश में अब्बाजान-अब्बाजान ना चिल्लाना पड़ता।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने सीएम योगी आदित्यनाथ के कुशीनगर में बयान पर तंज कसा है। असदुद्दीन ओवैसी ने योगी आदित्यनाथ सरकार के कामकाज पर सवाल उठाया है। ओवैसी से योगी आदित्यनाथ से कहा कि अगर काम किए होते तो अब्बा, अब्बा चिल्लाना नहीं पड़ता। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव की आहट से ही अब तुष्टिकरण की राजनीति शुरू हो गई है। कुशीनगर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अब्बा जान वाले बयान पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी उतारने की तैयारी में लगे ओवैसी ने एक के बाद एक तीन ट्वीट करके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा और कहा कि अगर काम किए होते तो अब्बा, अब्बा चिल्लाना नहीं पड़ता।

असदुद्दीन ओवैसी ने सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान पर अपने ट्वीट में कहा कि कैसा तुष्टिकरण। प्रदेश के मुसलमानों की साक्षरता-दर सबसे कम है, मुस्लिम बच्चों का ड्रॉपआउड सबसे ज़्यादा है। मुस्लिम इलाकों में स्कूल-कॉलेज नहीं खोले जाते। अल्पसंख्यकों के विकास के लिए केन्द्र सरकार से बाबा की सरकार को 16,207 लाख मिले थे, बाबा ने सिर्फ 1602 लाख रुपये खर्च किया। 2017-18 में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत मात्र दस मुसलमानों को घर मिले। अब अब्बा के बहाने किसके वोटों का पुष्टिकरण हो रहा है बाबा। देश के 9 लाख बच्चे गंभीर तौर पर कुपोषित हैं, जिसमें से 4 लाख बच्चे सिर्फ उत्तर प्रदेश से हैं।

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कुशीनगर में कार्यक्रम में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर निशाना साधा था। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि पीएम मोदी के नेतृत्व में तुष्टिकरण की राजनीति के लिए कोई जगह नहीं है। क्या 2017 से पहले सभी को राशन मिलता था। अब्बा जान कहने वाले ही राशन हजम कर जाते थे। 


सीएम योगी ने दी 822 कंप्यूटर आपरेटरों को सेवा विस्तार की सौगात

सीएम योगी ने दी 822 कंप्यूटर आपरेटरों को सेवा विस्तार की सौगात

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिले के 20 ब्लाकों में कार्यरत 822 कंप्यूटर आपरेटरों को सेवा विस्तार की सौगात दी है। 14वें वित्त आयोग के अंतर्गत सेवा दे रहे इन आपरेटरों की सेवा 31 मार्च 2021 को समाप्त हो गई थी। अब मुख्यमंत्री के निर्देश पर उनकी सेवा विस्तार से संबंधित शासनादेश जारी कर दिया गया है। 

14वें वित्त आयोग के अंतर्गत सेवा दे रहे थे कंप्यूटर आरपेटर

शासन की ओर से सभी जिलों में 10 हजार रुपये प्रतिमाह पर कंप्यूटर आपरेटर रखने की स्वीकृति दी गई थी। कार्यों की अधिकता को देखते हुए 14वें वित्त के प्रशासनिक एवं तकनीकी मद से इनकी तैनाती की गई। कोरोना संक्रमण के दौर के साथ ही ग्राम पंचायत चुनाव के बीच कार्य की अधिकता देखते हुए इन कंप्यूटर आपरेटरों से सेवा ली गई। सेवा समाप्त होने के बाद भी ये बिना मानदेय के काम करते रहे। कोरोना संक्रमण काल के दौरान ये अपनी बात आला अधिकारियों तक नहीं पहुंचा पाए थे। जिला पंचायत राज अधिकारी हिमांशु शेखर ठाकुर ने बताया कि इस संबंध में शासनादेश जारी कर दिया गया है। इससे 822 आपरेटर लाभांवित होंगे।


जनता दर्शन में रखी बात, मिली राहत

बिना मानदेय के भी सरकारी काम में सहयोग कर रहे कंप्यूटर आपरेटरों ने गोरखनाथ मंदिर में आयोजित जनता दर्शन में मुख्यमंत्री के समक्ष अपनी मांग रखी थी। मुख्यमंत्री ने उन्हें सकारात्मक आश्वासन दिया था। मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार उनकी समस्या का समाधान हो गया है। कंप्यूटर आपरेटरों को अब मानदेय बढ़ने की भी उम्मीद है।

3098 लाभार्थियों को शौचालय के लिए मिली पहली किस्त

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण फेज दो में 3098 लाभार्थीयों के शौचालय के लिए गुरुवार को एक करोड़ 95 लाख 88 हजार रुपये की पहली किस्त जारी कर दी गई है। जिले में कुल 24258 व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण करने का लक्ष्य है। अभी तक 11 हजार 418 लाभार्थियों के खाते में पहली किस्त ट्रांसफर की जा चुकी है। जिला पंचायत राज अधिकारी हिमांशु शेखर ठाकुर ने बताया कि बेलघाट ब्लाक के 388, बड़हलगंज के 145, बांसगांव के 125, कैंपियरगंज के 246, जंगल कौड़िया के 43, ब्रह्मपुर के 117, पाली के 155, कौड़ीराम के 286, खोराबार के 48, पिपराइच के 88, पिपरौली के 355, सहजनवा के 59, सरदारनगर के 265, उरुवा के 324, खजनी के 454 लाभार्थियों के खाते में पहली किस्त के रूप में छह-छह हजार रुपये की किस्त भेजी गई है।