36 लाख का बिल भेजने को लेकर कांग्रेस पार्टी पर जमकर बरसी बीएसपी सुप्रीमो मायावती, सुनाई खरी-खोटी

36 लाख का बिल भेजने को लेकर कांग्रेस पार्टी पर जमकर बरसी बीएसपी सुप्रीमो मायावती, सुनाई खरी-खोटी

उत्तर प्रदेश के बस टकराव का मुद्दा अभी पूरी तरह ठंडा भी नहीं हुआ था कि राजस्थान की कांग्रेस पार्टी सरकार ने यूपी सरकार को 36.36 लाख रुपये का बिल भेजकर नया टकराव खड़ा कर दिया है. यह बिल कोटा से उत्तर प्रदेश लाए गए बच्चों के लिए 70 बसें उपलब्ध करवाने को लेकर भेजा गया है.

राजस्थान सरकार के इस कदम के बाद भाजपा कांग्रेस पार्टी को लेकर व अधिक हमलावर हो गई है. वहीं, बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने भी इसे लेकर कांग्रेस पार्टी को खूब खरी-खोटी सुनाई है. 
: मायावती ने ट्वीट किया- राजस्थान की कांग्रेस पार्टी सरकार द्वारा कोटा से करीब 12000 युवक-युवतियों को वापस उनके घर भेजने पर हुए खर्च के रूप में उत्तर प्रदेश सरकार से 36.36 लाख रुपये व देने की जो मांग की गई है, वह उसकी कंगाली और अमानवीयता को प्रदर्शित करता है. दो पड़ोसी राज्यों के बीच ऐसी घिनौनी पॉलिटिक्स अति-दुखद है. 

उन्होंने लिखा कि राजस्थान सरकार एक तरफ कोटा से उत्तर प्रदेश के विद्यार्थियों को अपनी बसों से वापस भेजने के लिए मनमाना किराया वसूल रही है. वहीं दूसरी तरफ अब प्रवासी मजदूरों को उत्तर प्रदेश में उनके घर भेजने के लिए बसों की बात कर रही है. 

ऐसा करके कांग्रेस पार्टी जो सियासी खेल खेल कर रही है यह कितना उचित और कितना मानवीय है? इसके साथ ही मायावती ने अम्फान तूफान को लेकर भी संवेदना जाहीर की. उन्होंने लिखा कि तूफान के तांडव से खासकर पश्चिम बंगाल में जो व्यापक तबाही और बर्बादी हुई है वह अति दुखद है. 

जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित है. ऐसे में खासकर केन्द्र सरकार को आगे बढ़कर हर प्रकार से प्रदेश को वहां के दशा सामान्य बनाने में मदद करनी चाहिए.