10 भाषाओं में ODOP का होगा प्रमोशन, बड़े यूजर्स तक बनेगी पहुंच

10 भाषाओं में ODOP का होगा  प्रमोशन, बड़े यूजर्स तक बनेगी पहुंच

सीएम योगी आदित्यनाथ का ड्रीम प्रोजेक्ट एक जिला एक उत्पाद ODOP का प्रचार अब 10 भाषाओं में होगा. इसको लेकर माइक्रो ब्लागिंग ऐप ‘कू’के साथ करार हुआ है. सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम और निर्यात प्रोत्साहन विभाग ने माइक्रो ब्लागिंग ऐप ‘कू’ के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया है.

उत्तर प्रदेश गवर्नमेंट के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम एवं निर्यात प्रोत्साहन विभाग के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल और ‘कू’ के सह-संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी अप्रमेय राधाकृष्ण ने बुधवार को समझौता किया.

गैर-अंग्रेजी भाषी कारीगरों एवं लोगों तक ओडीओपी से जुड़े कार्यक्रमों और योजनाओं तक पहुंच हो जाएगी. यूपी के क्षेत्रीय कारीगरों के पास और बड़ा बाजार मौजूद हो जाएगा. इससे उन्हें अपना व्यवसाय बढ़ाने में सहायता मिलेगी. ‘कू’ऐप पर मौजूद ओडीओपी हैंडल @UP_ODOP पर जाकर इसके बारे में जानकारी प्राप्त की जा सकती है.

बड़े यूजर्स तक बनेगी पहुंच
इस बारे में एमएसएमई अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने कहा, “कू के साथ यह जुड़ाव हमारे ओडीओपी उत्पादों को बड़े यूजर्स तक पहुंचाने में सहायता करेगा और कई क्षेत्रीय भाषाओं में ओडीओपी के संबंध में वार्ता को बढ़ावा देगा.

कू के सह-संस्थापक अप्रमेय राधाकृष्ण ने कहा, “आज यूपी गवर्नमेंट के साथ इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करते हुए हमें खुशी हो रही है. जब भी ओडीओपी के माध्यम से क्षेत्रीय उत्पादों को विश्व स्तर पर बढ़ावा देने की बात आती है तो उत्तर प्रदेश की गिनती एक अग्रणी राज्य के तौर पर होती है. हमारे लिए क्षेत्रीय कारीगरों एवं उनके शिल्प को विभिन्न भाषाओं में शेष हिंदुस्तान में बढ़ावा देने में सहायता करना खुशी की बात है.

2018 में प्रारम्भ हुई योजना
‘एक जिला एक उत्पाद’ (ओडीओपी) 2018 में सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रारम्भ की गई एक प्रमुख पहल है, जिसका उद्देश्य यूपी के क्षेत्रीय कारीगरों को उनके उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार करना, उनकी मार्केटिंग और ब्रांडिंग में सहायता करके स्वदेशी उत्पादों और शिल्पकारों को प्रोत्साहित करना है. साथ ही इससे जुड़ी कारीगरों की आय बढ़ाकर रोजगार के नए अवसर पैदा करना है. योजना की कामयाबी का आकलन इससे ही किया जा सकता है कि अब इस पहल को केंद्र गवर्नमेंट और राष्ट्र भर के अन्य राज्यों द्वारा दोहराया जा रहा है.