बाबा रामदेव बोले- राम मंदिर निर्माण के साथ हिंदुस्तान में 'राम राज्य' की स्थापना होगी

बाबा रामदेव बोले- राम मंदिर निर्माण के साथ हिंदुस्तान में 'राम राज्य' की स्थापना होगी

अयोध्या रामजन्मभूमि में धरती पूजन के लिए आमंत्रित विशिष्ट अतिथियों का आगमन शुरु हो गया है. धरती पूजन समारोह में भाग लेने के लिए योग गुरू बाबा रामदेव अयोध्या पहुंचे गए हैं. मंगलवार को हेलीकॉप्टर से हवाई पट्टी पर उतरे योग गुरु के साथ जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद, परमार्थ निकेतन, ऋषिकेश के स्वामी चिदानंद सरस्वती, सुधीर दहिया और राजू स्वामी भी आए. वहीं दूसरे हेलीकॉप्टर से ब्रह्मानंद स्वामी, सुरेश पटेल और रितेश डांडिया भी आए.

इसी बीच बुधवार को बाबा रामदेव ने बोला कि आज का दिन एक ऐतिहासिक दिन है. इस दिन को लंबे समय तक याद रखा जाएगा. मुझे विश्वास है कि राम मंदिर के निर्माण के साथ ही हिंदुस्तान में 'राम राज्य' की स्थापना होगी.

इससे पहले मंगलवार प्रातः काल अयोध्या रवाना होने से पूर्व पत्रकारों से वार्ता में बाबा रामदेव ने बोला था कि संसार भर में सभी अपने महापुरुषों, अवतारी पुरुषों के प्रतीक स्थानों को सहेज कर रखते हैं. इसलिए मथुरा में श्री कृष्ण जन्मस्थान व बनारस में काशी विश्वनाथ मंदिर पर भी जल्द निर्णय हो जाना चाहिए. उन्होंने बोला कि उनका परम सौभाग्य है कि उनकी आंखों के सामने राम मंदिर का निर्माण होने जा रहा है.

बाबा रामदेव ने बोला कि अगर कोरोना संकट नहीं होता तो इस मौके पर अयोध्या में कम से कम एक करोड़ लोग इस ऐतिहासिक पलों के साक्षी बनने के लिए पहुंचते. उन्होंने बोला कि श्रीराम मंदिर निर्माण का श्रेय उन राम भक्तों को जाता है, जिन्होंने इसके लिए प्रयत्न किया. साधु-संत, विश्व हिंदू परिषद , आरएसएस व पीएम नरेंद्र मोदी को इसका श्रेय जाता है. इन सब की वजह से ही भगवान श्री राम का भव्य मंदिर का निर्माण हो पा रहा है. देश राम भक्तों के प्रयत्न को सदियों तक याद रखेगा.