जोखिम में है जान, क्या कॉलेजों में इम्तिहान होगी आसान

जोखिम में है जान, क्या कॉलेजों में इम्तिहान होगी आसान

लखनऊ: लखनऊ विश्वविद्यालय, डॉ एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) समेत अन्य विश्वविद्यालयों ने भी इम्तिहान प्रोग्राम जारी कर दिया है. इम्तिहान प्रोग्राम जारी होते ही छात्र-छात्राओं ने विरोध करना प्रारम्भ कर दिया है. विद्यार्थियों का बोलना है कि कोरोना संक्रमण के दौरान विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है. ऐसे में विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा इम्तिहान कराया जाना सुरक्षित नहीं होगा. विद्यार्थियों ने कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए बिना इम्तिहान कराये प्रमोट किए जाने की मांग की है.

लखनऊ विश्वविद्यालय:लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रवक्ता डॉ दुर्गेश श्रीवास्तव ने बताया कि विवि से करीब 173 महाविद्यालय संबंध है. विवि के गोरखपुर,बस्ती, बलिया, देवरिया, आगरा, कानपुर, इटावा, प्रतापगढ़, रायबरेली,गोंडा बाराबंकी हरदोई समेत तमाम जिलों के विद्यार्थी पढ़ते हैं. कोरोना संक्रमण के चलते हुए लॉकडाउन से पहले विद्यार्थी अपने घर चले गए थे, वही बाहर कमरा लेकर रहने वाले विद्यार्थी भी संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए अपने घर चले गए थे. इधर कोविड-19 से निपटने के लिए शैक्षिक संस्थानों को क्वारंटाइन सेंटर बना दिया गया था. अब जब सात जुलाई से इम्तिहान की तारीख घोषित की गई है तो इनके सामने रहने आदि की समस्याएं आन खड़ी हो गई. साथ ही यह सवाल भी पैदा होना लाजमी है कि क्याा विश्वविद्यालयों के छात्रावासों में शारीरिक दूरी के मानक का पालन हो सकेगा? क्या छात्रावास प्रतिदिन सैनिटाइज कराये जा सकेेगे? जिनके जवाब वैसे विश्वविद्यालय प्रशासन के पाास नहीं है.

परीक्षाएं 7 जुलाई से हैं अभी करीब 15 दिन से अधिक का समय है. आगे जैसी स्थिति होगी वैसा फैसला लिया जाएगा.

एकेटीयू:कुछ ऐसा ही हाल डॉ एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) का है. विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा 16 जुलाई से इम्तिहान की तारीख घोषित की गई है. इम्तिहान केंद्रों पर संक्रमण की आशंकाओं को लेकर विद्यार्थी तनाव है. बता दें कि विश्वविद्यालय से करीब 700 से अधिक इंजीनियरिंग कॉलेज संबंध है. इनमें करीब ढाई लाख विद्यार्थी पढ़ते हैं. अधिकतर प्रतिष्ठित कॉलेज नोएडा, गाजियाबाद मुरादाबाद, आगरा आदि में हैं. ऐसे में संक्रमण के बढ़ते खतरे के बीच विद्यार्थी छात्राओं का घर से दोबारा कैंपस जाना कितना सुरक्षित होगा यह अभी एक बड़ा सवाल है.

एकेटीयू के प्रवक्ता आशीष मिश्रा ने बताया कि बीटेक अंतिम साल की परीक्षाएं 16 जुलाई से होनी है. हमारी तरफ से तैयारी पूरी हैं. मगर विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिहाज से कोविड-19 को लेकर आगे की जैसी स्थिति होगी व सरकार के जैसे निर्देशों के वैसा फैसला लिया जाएगा.