ऑक्सीजन की मारामारी: DM के पत्र पर ले जा रहे सिलेंडर

ऑक्सीजन की मारामारी: DM के पत्र पर ले जा रहे सिलेंडर

बाराबंकी: कोरोना वायरस (Coronavirus) के ताजा तूफान ने पूरे उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य सिस्टम की पोल खोल कर रख दी है। प्रदेश के अधिकतर जिलों में अस्पतालों के बाहर भीड़ है, बेड्स की कमी है। लेकिन इस वक्त सबसे बड़ी समस्या जो बन गई है वह ऑक्सीजन (Oxygen) की किल्लत है।

राजधानी लखनऊ हो या आसपास के जिले ऑक्सीजन (Oxygen) के सिलेंडर को लेकर हर जगह मारामारी है। लखनऊ से सटे जिले बाराबंकी जिले में भी ऑक्सीजन रिफिलिंग सेंटर पर लोगों की भीड़ है। लेकिन यहां डीएम ने आदेश जारी कर दिया है कि बिना उनके लेटर के किसी को भी ऑक्सीजन नहीं दी जाए। ऐसे में आम लोगों को तो ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही, लेकिन पहुंच वाले लोग डीएम का लेटर लिखवाकर ऑक्सीजन सिलेंडर ले जा रहे हैं। यह पूरा नजारा मीडिया के खुफिया कैमेरे में भी कैद हुए है।

ऑक्सीजन प्लांट पर उमड़ी भीड़
हम बात कर रहै हैं बाराबंकी जिले की, जहां इस समय लोग ऑक्सीजन के लिए डीएम का लेटर पाने के लिए परेशान है। जिले के शारंग ऑक्सीजन प्लांट पर भयंकर भीड़ उमड़ी है। तीमारदार यहां पर ऑक्सीजन के लिए दर-दर भटक रहे हैं। लेकिन आलम यह है कि ऑक्सीजन पाने के लिए आम लोगों को डीएम का लेटर मिल हीं नहीं पा रहा। कई लोगों की चिट्ठी के इंतजार में ही जान चली जा रही है। यहां लोग दूर-दूर से ऑक्सीजन का सिलेंडर भरवाने आ रहे हैं, क्योंकि अस्पतालों में ऑक्सीजन की किल्लत है और परिजनों को मरीजों के लिए खुद ही ऑक्सीजन लाना पड़ रहा है।

डीएम डॉ. आदर्श सिंह ने आदेश जारी कर दिया है कि बिना उनके लेटर के किसी को भी ऑक्सीजन नहीं दी जाए। उनका कहना है कि यहां से ऑक्सीजन केवल कोविड हॉस्पिटल के लिए ही दी जाएगी। ऐसे में आम लोगों को तो ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही। आलम ये है कि एक हॉस्पिटल में कई बच्चे वेंटिलेटर पर हैं, लेकिन उनको भी ऑक्सीजन नहीं दी जा रही। जबकि पहुंच वाले लोग डीएम का लेटर लिखवाकर ऑक्सीजन सिलेंडर ले जा रहे हैं। ऐसा ही एक शख्स डीएम का लेटर लेकर आया और गाड़ी में ऑक्सीजन सिलंडर लादकर ले गया। पर्चे के मुताबिक उसका मरीज एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती है और डीएम के नियम के मुताबिक उसको ऑक्सीजन नहीं मिलनी चाहिए, लेकिन पैसे और पहुंच के बल पर उसे ऑक्सीजन मिली। यह पूरा नजारा मीडिया के खुफिया कैमेरे में भी कैद हुआ है।

यहां ऑक्सीजन लेने आये तीमारदारों ने बताया कि वह जगह-जगह ऑक्सीजन की तलाश में धक्के खा रहे हैं। यहां भी डीएम के लेटर के बिना ऑक्सीजन नहीं मिल रही। ऐसे में हमारे मरीजों की परेशानी काफी बढ़ रही है। लेकिन इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। वहीं शारंग ऑक्सीजन प्लांट के कर्मचारियों ने बताया कि डीएम साहब के आदेश पर हम लोग ऑक्सीजन दे रहे हैं। बिना उनके आदेश के हम लोग किसी को ऑक्सीजन नहीं दे रहै। जो भी डीएम का लेटर लेकर आ रहा है, उसे हम लोग ऑक्सीजन दे रहे हैं।


सीएम योगी ने संबंधित विभागों को कार्यों में और तेजी लाने के दिए निर्देश

सीएम योगी ने संबंधित विभागों को कार्यों में और तेजी लाने के दिए निर्देश

लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ ने बोला है कि कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार के जरिए किये जा रहे प्रयासों के आशाजनक रिज़ल्ट आ रहे हैं कोविड संक्रमण से बचाव और इलाज की व्यवस्थाओं को और कारगर बनाए जाने पर बल देते हुए उन्होंने सभी संबंधित विभागों को अपने कार्यों में और तेजी लाने के आदेश दिए हैं

मुख्यमंत्री ने वर्चुअल माध्यम से एक उच्चस्तरीय मीटिंग में प्रदेश में Covid-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे इस दौरान सीएम को अवगत कराया गया कि विगत 24 घंटों में 02 लाख 29 हजार 186 टेस्ट किए गए हैं इसमें आरटीपीसीआर के माध्यम से समापन टेस्ट की संख्या 01 लाख 11 हजार से अधिक है 24 घंटे में 23,333 नए मुद्दे आए है और स्वस्थ होने के पश्चात 34,636 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया गया है वर्तमान में प्रदेश में कोविड के सक्रिय केस की संख्या 02 लाख 33 हजार 981 है यह 30 अप्रैल, 2021 को सर्वाधिक सक्रिय मामलों की संख्या से लगभग 77 हजार कम है

मुख्यमंत्री ने बोला कि कारगर कोविड प्रबन्धन हेतु लागू आंशिक कोविड-19 कर्फ्यू के बेहतर नतीजे मिल रहे हैं इसके दृष्टिगत प्रदेश में आंशिक कोविड-19 कर्फ्यू सोमवार 17 मई, 2021 की प्रातः काल 07 बजे तक विस्तारित जाए इस अवधि में चिकित्सा सबंधी कार्य, वैक्सीनेशन, औद्योगिक गतिविधियों सहित आवश्यक और जरूरी सेवाएं यथावत जारी रहेंगी उन्होंने बोला कि सभी माध्यमिक, उच्च और प्राविधिक शिक्षण संस्थानों को 20 मई, 2021 तक बंद रखा जाए इस अवधि में औनलाइन कक्षाएं भी स्थगित रहेंगी ज्ञातव्य है प्राथमिक स्तर की शिक्षण संस्थाओं को पहले ही 20 मई, 2021 तक के लिए बंद कर दिया गया है

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बोला कि सोमवार 10 मई, 2021 से प्रदेश के 11 अन्य जनपदों में 18 से 44 साल आयुवर्ग का वैक्सीनेशन शुरू हो रहा है इसके लिए सुचारू व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के आदेश देते हुए उन्होंने बोला कि पर्याप्त संख्या में वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित किए जाएं वैक्सीनेशन में वेस्टेज को न्यूनतम करने के लिए कारगर कोशिश किएं जाएं इसके लिए उन्होंने बेहतर लोकल प्रबन्धन पर बल दिया


हाथी ने खेला क्रिकेट, बैटिंग देखकर इंप्रेस हुए सहवाग       Lewis Hamilton ने जीती Spanish Grand Prix, क्रिकेटर सूर्यकुमार यादव बोले...       Rahul Tewatia ने सरेआम किसे I Love You बोलकर किया किस?       Ind vs Eng: हिंदुस्तान और इंग्लैंड में कौन है टेस्ट सीरीज जीतने का दावेदार?       टोक्यो में पदक का सूखा समाप्त करने का मौका : मनप्रीत       Virat Kohli ने कही केवल एक बात और स्टार बन गए Harshal Patel       Virat Kohli के बाद Ishant Sharma ने भी लगवाया पहला टीका       Chetan Sakariya के पिता के मृत्यु की समाचार सुनकर दुखी हुए Mustafizur Rahman       Babar Azam और Alyssa Healy ने मारी बाजी, जीता ये बड़ा खिताब       कोविड-19 के चलते खेल जगत से बुरी खबर, इस खिलाड़ी ने अपनी मां को खोया       यूपी में पिछले 24 घंटे में सामने आए कोविड-19 के 23333 नए मामले       सीएम योगी ने संबंधित विभागों को कार्यों में और तेजी लाने के दिए निर्देश       देश के इन राज्यों में आज से लॉकडाउन, जानिए क्या-क्या रहेगा बंद       खुशखबरी: उत्तर प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण के कम हुए 3514 केस       11 और जिलों में 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए प्रारम्भ हुआ कोविड टीकाकारण, जानें       यूपी के इन 12 जिलों में कोविड-19 वायरस के आधे मरीज       यूपी के शराब कारोबारियों ने कहा कि हम हो जाएंगे बर्बाद       मायावती ने कहा कि गांव में कोविड-19 लोग दहशत में, रोकथाम के लिए युद्ध स्तर पर काम करें सरकार       योगी सरकार 60 लाख गरीब बुजुर्गों के खातों में भेजेगी पेंशन, 1800 करोड़ रुपये की किश्त जारी       कोविड-19 वायरस टीकाकरण में तेजी, 11 और जिलों में वैक्सीनेशन शुरू