महिला सुरक्षा के प्रति रुख में परिवर्तन के लिए अभियान चालने की की गई अपील

महिला सुरक्षा के प्रति रुख में परिवर्तन के लिए  अभियान चालने की की गई अपील

शनिवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश (भैया जी) जोशी ने बोला कि हिंदू समाज में जन्म के संदर्भ में श्रेष्ठता की बात करना ठीक नहीं है। मंगलूरू में विश्व हिंदू परिषद केंद्रीय प्रबंध कमेटी व न्यासी मंडल की मीटिंग में कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे जोशी ने समरसतापूर्ण समाज का निर्माण करने का आह्वान किया।

इस मुद्दे को लेकर मीटिंग के दूसरे दिन जोशी ने कहा, दृष्टिकोण में परिवर्तन के चलते आज समाज में लोगों के मूल्य समाप्त हो रहे हैं व मातृभूमि के प्रति उदासीनता का भाव है। ऐसे में हिंदुओं को सशक्त, सुसंस्कृत व जागरूक होना चाहिए। उन्होंने जोर दिया कि हिंदुओं को सदाचारी, स्वाभिमानी व वैज्ञानिक सोच से भरा होना चाहिए।

 

उन्होने आगे अपने संबोधन में बोला कि आज ऐसे सक्रिय हिंदुओं की आवश्यकता है कि जो बेदाग संगठित शक्ति निर्माण के लिए दुनिया का नेतृत्व कर सकें। जोशी ने कहा, हिंदू समाज में जन्म के संदर्भ में श्रेष्ठता की बात नहीं होनी चाहिए क्योंकि आदमी कर्म से महान बनता है। उन्होंने कहा, श्री राम जन्मभूमि का मामला हमारे लिए आत्म सम्मान का मुद्दा है। बैठक के दूसरे दिन विश्व हिंदू परिषद ने एक मजबूत एवं स्वावलंबी हिंदुस्तान के निर्माण का संकल्प लिया। देश में दुष्कर्म व स्त्रियों के विरूद्ध अन्य अपराधों में बढ़ोतरी पर चिंता जताते हुए एक प्रस्ताव भी पारित किया गया। साथ ही अभिभावकों, शिक्षाविदों, संतों, सामाजिक संगठनों, मीडिया व मनोरंजन जगत को ऐसे अपराधों को रोकने तथा महिला सुरक्षा के प्रति रुख में परिवर्तन के लिए एक अभियान चालने की अपील की गई।