नोएडा में सभी चुनावी उम्मीदवारों की नींद उड़ाएगा यह बड़ा मुद्दा, जानें रिपोर्ट

नोएडा में सभी चुनावी उम्मीदवारों की नींद उड़ाएगा यह बड़ा मुद्दा, जानें रिपोर्ट

हाल ही में नोएडा (Noida) में निकाली गई कार-बाइक रैली का नेतृत्व करने वाले नेफोवा (Nefowa) अध्यक्ष अभिषेक कुमार का कहना है कि जल्द नो रजिस्ट्री, नो वोट से इस अभियान को और आगे बढ़ाया जाएगा. इस मामले में ना तो जन प्रतिनिधि सुनने को तैयार हैं और ना ही नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) इसलिए वो अपनी आवाज़ लोकतांत्रिक तरीके से उठाते रहेंगे. पूरा पैसा देने के बाद भी फ्लैट की

रजिस्ट्री न होने की यह कहानी नोएडा और ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) में किसी एक-दो परिवार की नहीं है. हर सोसाइटी में आपको बिल्डर्स की इस तरह की मनमानी के शिकार लोग मिल जाएंगे.


Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

मकर संक्रांति पर्व को लेकर थोक और फुटकर बाजारों में ग्राहकों की रौनक रही। गजक, तिल के लड्डू, पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत गुड़ और शक्कर के बने उत्पादों की अच्छी बिक्री हुई।

नया चावल और उड़द-मूंग की दाल भी खूब बिकी। हालांकि, बाजार में महंगाई की मार भी दिखी। सोशल डिस्टेंसिंग धड़ाम रही, तमाम ग्राहक मास्क तक नहीं लगाए थे। 

कानपुर नमकीन, बेकरी, गजक, पेठा एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्मल त्रिपाठी ने बताया कि पिछले साल की तुलना में गुड़ और शक्कर के दाम बढ़े हैं। पिछले साल की तुलना में करीब 10-15 फीसदी दाम तेज हैं। गुड़ की गजक 240 रुपये किलो बिकी। गुड़ रोल और पंजाबी चिक्की का भाव 260 रुपये किलो रहा।

काले तिल का लड्डू 280 और सफेद तिल का लड्डू 260 रुपये किलो में बिका। बाजार में ग्राहकों की पसंद को देखते हुए चॉकलेट, खोवा, मेवा गजक भी हैं। इसके दाम अलग-अलग क्वालिटी के अनुसार 400 से 600 रुपये किलो तक है। महामंत्री शंकर लाल मतानी ने बताया कि बाजार में अच्छी संख्या में ग्राहक थे।

दोनों प्रकार के तिल के लड्डू, रामदाना, लइया की भी अच्छी डिमांड देखने को मिली। चावल और दाल कारोबारी सचिन त्रिवेदी ने बताया कि खिचड़ी में नया चावल ही इस्तेमाल में आता है। इसके चलते चावल और दालों की अच्छी बिक्री हुई।