पंद्रह दिन में औसत से ढाई गुनी हो चुकी है बारिश, आज भी बारिश के आसार

पंद्रह दिन में औसत से ढाई गुनी हो चुकी है बारिश, आज भी बारिश के आसार

पूर्वांचल में बादलों ने स्‍थायी रूप से डेरा डाल दिया है। पिछले कई दिनों से रह-रहकर हो रही बारिश के चलते 15 जून की औसत वर्षा से करीब ढाई गुना बारिश जिले में हो चुकी है। आसमान में अभी भी बादल छाए हुए हैं। मौसम विशेषज्ञों ने पूर्वानुमान जताया है कि अभी अगले दो दिनों तक यही स्थिति बनी रहेगी। इसके चलते जिले में हल्‍की से मध्‍यम वर्षा होगी।

पिछले 24 घंटे में गोरखपुर में हुई 122.3 मिमी बारिश

मौसम विशेषज्ञ कैलाश पाण्‍डेय का कहना है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश से लेकर बंगाल की खाड़ी तक वायुमंडलीय परिस्थितियां बनी हुई हैं। इसके चलते गोरखपुर व उसके इर्द-गिर्द जिले में अभी बारिश जारी रहेगी। बुधवार सुबह भी शहर से लेकर देहात तक बारिश क्रम बना हुआ है। बीते 24 घंटे में (सोमवार साढ़े पांच से लेकर मंगलवार शाम साढ़े पांच बजे तक) गोरखपुर में 122.3 मिलीमीटर से अधिक बारिश हो चुकी चुकी है। यह अति भारी वर्षा की श्रेणी में है। ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश की मात्रा इससे भी अधिक है।


अभी अगले दो दिनों तक जारी रहेगा बारिश का सिलसिला

राजस्थान से लेकर पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड होते हुए पश्चिम बंगाल तक एक सक्रिय निम्न वायुदाब क्षेत्र बना हुआ है। इसके अलावा बंगाल की खाड़ी की ओर से निरंतर चल रही पुरवा हवाएं नमी लेकर पूर्वी उत्तर प्रदेश तक पहुंच रही हैं। पूर्वी उत्तर प्रदेश में निम्न वायुदाब क्षेत्र बने होने के चलते यह नमी बादलों का रूप ले रही है। आसमान में बादलों का बोझ जैसे ही बढ़ रहा है, बारिश का सिलसिला शुरू हो जा रहा है। फिलहाल यह परिस्थितियां दो से तीन दिन तक लगातार बनी रहेंगी, इसलिए गरज-चमक के साथ बारिश का सिलसिला भी रुक-रुक कर लगातार चलता रहेगा। बंगाल की खाड़ी में आए तूफान ‘यास’ के चलते हुई बारिश के बाद भीषण उमस भरी गर्मी झेल रहे पूर्वांचलवासियों को इस बारिश ने राहत दी है।


चार दिन में 10 डिग्री गिरा तापमान

बारिश के चलते पिछले चार दिनों में 38 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच चुका अधिकतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस गिरकर 27.7 डिग्री सेल्सियस पर आ गया है। मौसम विशेषज्ञ कैलाश पांडेय की माने तापमान में अभी एक से दो डिग्री की और गिरावट आएगी। न्यूनतम तापमान भी 22 डिग्री सेल्सियस तक आएगा। सोमवार यह 25.8 डिग्री सेल्सियस के करीब रिकार्ड किया गया था। बारिश की चलते मंगलवार को आर्द्रता 100 दर्ज हुआ है।


गोरखपुर में साकार होगा अपनेे मकान का सपना, जीडीए कम करने जा रहा है अपनी संपत्तियों का मूल्य

गोरखपुर में साकार होगा अपनेे मकान का सपना, जीडीए कम करने जा रहा है अपनी संपत्तियों का मूल्य

संपत्तियों के न बिकने के चलते गोरखुपर विकास प्राधिकरण (जीडीए) ने आवासीय एवं व्यावसायिक संपत्तियों के किस्तों पर लगने वाले ब्याज को घटाने का निर्णय लिया है। आवासीय संपत्ति पर अबतक 11 फीसद ब्याज लगता था। विलंब होने की स्थिति में ब्याज दर 15 फीसद हो जाती थी लेकिन अब केवल नौ फीसद ब्याज ही लगेगा।

इसी तरह व्यावसायिक संपत्तियों पर लगने वाला 18 फीसद ब्याज घटाकर 11 फीसद कर दिया गया है। इससे जीडीए की संपत्तियां कुछ सस्ती हो सकेंगी। हालांकि ये नई दरें फिलहाल अगले दो साल के लिए ही लागू रहेंगी, उसके बाद दोबारा इसपर विचार होगा।

आवासीय एवं व्यावसायिक संपत्तियों की किस्तों पर लगने वाले ब्याज दर में की गई कटौती

कई बार आवेदन आमंत्रित करने के बाद भी जीडीए की कुछ संपत्तियां नहीं बिक पा रही हैं। समीक्षा में यह बात सामने आई कि किस्तों पर ब्याज की दरें कुछ अधिक हैं। इस मामले को हाल ही में संपन्न जीडीए बोर्ड की बैठक में भी रखा गया था। बोर्ड ने ब्याज दर कम करने पर सहमति जता दी थी। जीडीए के सचिव राम सिंह गौतम ने बताया कि नई दरें सात जुलाई से अगले दो साल के लिए लागू की गई हैं।


नौका संचालकों का कोरोना काल का किराया माफ

रामगढ़ ताल क्षेत्र में पर्यटकों के लिए नाव का संचालन करने वालों का कोरोना कालखंड का किराया माफ करने का निर्णय लिया गया है। संचालकों की ओर से दिए गए आवेदन के बाद जीडीए के अधिकारियों ने यह फैसला लिया है। संचालकों ने कोरोना काल में कमाई बंद होने का हवाला दिया था।

यह मामला भी जीडीए बोर्ड की बैठक में रखा गया था, जिसपर बोर्ड ने वित्त अधिकारी को आकलन करने को कहा था। आकलन के बाद किराया माफ करने का निर्णय लिया गया है। इस फैसले के बाद स्की बोट व स्पीड बोट संचालकों का 60-60 हजार तथा रेस्टोरेंट संचालक कर करीब एक लाख 75 हजार रुपये किराया माफ किया गया है।