इंटरनेट मीडिया पर भाजपा के ई-रावण का कब्जा : अखिलेश यादव

इंटरनेट मीडिया पर भाजपा के ई-रावण का कब्जा : अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का भारतीय जनता पार्टी पर हमला जारी है। विश्वकर्मा जयंती पर शुक्रवार को अखिलेश यादव ने लखनऊ में दावा किया कि 2022 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी सरकार का सफाया हो जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने घोषणा कर दी कि उनकी सरकार बनते ही विश्वकर्मा जयंती पर अवकाश करा दिया जाएगा।

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने पहले की किसी भी सरकार की तुलना में अधिक झूठ बोला है। ऐसा लगता है कि भाजपा झूठ का ट्रेनिंग सेंटर चला रही है। जनता को गुमराह करने के लिए अफवाहें फैलाई जा रही हैं। इस सरकार में सबसे ज्यादा झूठ बोला गया है। भाजपा की केन्द्र तथा राज्य की सरकार झूठ का प्रशिक्षण केन्द्र चला रहे हैं।

अखिलेश यादव ने कहा कि इंटरनेट मीडिया में भाजपा ïके ई-रावण बैठे हैं। समाजवादी पार्टी से जुड़े लोग काफी सीधे होते हैं। मोबाइल पर जो चीजें आ जाती है उसपर यकीन कर लेते हैं। जनता के बीच में अब तो इंटरनेट मीडिया से अफवाह फैलाई जा रही है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश का चुनाव देश का सबसे बड़ा चुनाव होने जा रहा है। बिहार के चुनाव में बेईमानी ईवीएम और डीएम ने की लेकिन पश्चिम बंगाल की जनता ने जवाब दिया। हमें इस बार हम सभी को ईवीएम और डीएम से सावधान रहना होगा। मुझे भरोसा है अब यह सरकार जाने वाली है इस सरकार का सफाया होगा। इस सरकार में हर वर्ग के लोग अपमानित हुए हैं।

लखनऊ में समाजवादी पार्टी के विश्वकर्मा जयंती समारोह में अखिलेश यादव ने कहा कि सभी को भगवान विश्वकर्मा जयंती की बहुत बधाई। इस आयोजन के लिए पूर्व एमएलसी रामाश्रेय विश्वकर्मा समेत सभी लोगों को धन्यवाद। लखनऊ में कई वर्ष के बाद इतनी भयानक बारिश हुई। उसके बाद भी सभी लोग आए सबका धन्यवाद। नेताजी से लेकर आज तक समाजवादी पार्टी ने हमेशा विश्वकर्मा समाज का सम्मान किया। हमने तो उनके लिए छुट्टी की गई थी लेकिन सीएम योगी आदित्यनाथ ने छुट्टी खत्म कर दी। सपा की सरकार बनी तो प्रदेश में विश्वकर्मा बोर्ड बनेगा। सरकार आते ही विश्वकर्मा पूजा पर छुट्टी देंगे।

अखिलेश यादव ने कहा कि यहां बड़े बड़े उद्योगपति बुलाए गए थे। बड़े बड़े वादे किए थे लेकिन उतना पैसा यूपी में नही आया। उत्तर प्रदेश का विकास सिर्फ कागजों पर है जमीन पर नहीं दिखाई देता। इस सरकार ने अब तक कोई बड़ा काम नहीं किया। अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश के ऐसे मुख्यमंत्री हैं जो लैपटॉप ही नहीं चला पाते हैं, इसीलिए छात्र-छात्राओं को बांटे नहीं। उन्होंने कहा कि कोरोना में सबका कारोबार बंद हो गया। अर्थव्यवस्था चौपट हो गई। अब पटरी पर आ रही है। जिसमें सरकार का कोई योगदान नहीं है। आम लोगों का योगदान है। अगर सरकार सही तैयारी करती तो तमाम लोगों की जान बचाई जा सकती थी।

लखनऊ में आज विश्वकर्मा समाज के लोगों ने अखिलेश यादव से मुलाकात की और गोमती किनारे विश्वकर्मा मंदिर बनाने की मांग की। विश्वकर्मा समाज के अखिलेश यादव को सुदर्शन चक्र देकर सम्मानित किया। विश्वकर्मा समाज के लोगों ने सपा मुखिया अखिलेश यादव को हथौड़ा, तलवार, चांदी का मुकुट पहनाकर सम्मानित किया।  


सीएम योगी का निर्देश- जमाखोरों व मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई करें, नियंत्रण में आएगी महंगाई

सीएम योगी का निर्देश- जमाखोरों व मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई करें, नियंत्रण में आएगी महंगाई

उत्तर प्रदेश में खाद्य तेलों के साथ अन्य उत्पादों के तेजी से बढ़ते दाम पर अब सीएम योगी आदित्यनाथ बेहद गंभीर हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने लोक भवन में उच्च सतरीय टीम -09 के साथ बैठक के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने टीम को सख्त एक्शन लेने का निर्देश दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सब्जियों, खाद्य तेलों और दाल के मूल्य में अचानक तेजी देखी जा रही है। भारत सरकार ने इस संबंध में स्टॉक लिमिट भी तय की है। इसी कारण जमाखोरों के खिलाफ छापेमारी कर सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि सभी जगह मूल्य नियंत्रित रहें। इसके लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएं। इतना ही नहीं त्योहारों के दृष्टिगत खाद्य सामग्री में मिलावटखोरी की हर शिकायत का गंभीरता से संज्ञान लेते हुए सख्त कार्रवाई की जाए।


जनपदों में 28 से दीपावली मेला

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के सभी जनपदों में 28 अक्टूबर से दीपावली मेले का आयोजन प्रारंभ हो रहा है। दीपावली मेले में स्थानीय शिल्पकला, व्यंजन आदि उत्पादों को प्रोत्साहित किया जाए। इन मेलों में स्थानीय जनप्रतिनिधियों की सहभागिता होगी। अधिकाधिक जनता को मेले से जोडऩे का प्रयास हो।

मौसम जनित बीमारियों का तेजी से हो इलाज


मुख्यमंत्री ने कहा कि डेंगू, कॉलरा, डायरिया मलेरिया सहित वायरल से प्रभावित जनपदों में विशेष सतर्कता बरती जाए। एटा, मैनपुरी और कासगंज में विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम पहुंच गई है, विशेषज्ञों की यह टीम स्थानीय चिकित्सकों का मार्गदर्शन करेगी। अस्वस्थ लोगों के उपचार के लिए सभी अस्पतालों में प्रबंध किए गए हैं। सर्विलांस को बेहतर करते हुए हर एक मरीज के स्वास्थ्य की सतत निगरानी की जाए। बचाव के लिए व्यापक स्वच्छता, सैनिटाइजेशन और फॉगिंग का कार्य सतत जारी रखें। सभी जगह पर निगरानी समितियों को एक्टिव करने की जरूरत है।