अंतर-धार्मिक विवाह पर बड़ा फैसला:इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा- शादी से 30 दिन पहले नोटिस देना प्राइवेसी का हनन, इसे ऑप्शनल बनाएं

अंतर-धार्मिक विवाह पर बड़ा फैसला:इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा- शादी से 30 दिन पहले नोटिस देना प्राइवेसी का हनन, इसे ऑप्शनल बनाएं

अलग-अलग धर्मों के कपल की शादी के मामले में बुधवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया। हाईकोर्ट ने कहा कि उत्तर प्रदेश के स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत शादी से 30 दिन पहले जरूरी तौर पर नोटिस देने के नियम अनिवार्य नहीं है। इसको ऑप्शनल बनाना चाहिए। इस तरह का नोटिस प्राइवेसी यानी निजता का हनन है। यह कपल की इच्छा पर निर्भर होना चाहिए कि वह नोटिस देना चाहते हैं या नहीं।

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने यह फैसला उस पिटीशन पर सुनाया, जिसमें कहा गया था कि दूसरे धर्म के लड़के से शादी की इच्छा रखने वाली एक बालिग लड़की को हिरासत में रखा गया है। इस जोड़े ने अदालत से कहा था कि वह स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत शादी करना चाहते हैं, लेकिन इसके तहत शादी से 30 दिन पहले नोटिस देना होगा। ऐसे नोटिस का पब्लिकेशन कई आपत्तियों को न्योता देगा और इस तरह का नोटिस उनकी निजता का हनन है। इससे उन पर निश्चित तौर पर सामाजिक दबाव पड़ेगा और ये अपनी मर्जी से जीवनसाथी चुनने के अधिकार में भी दखल होगा।

मैरिज अफसर को आपत्ति पर ध्यान नहीं देना चाहिए- कोर्ट
हाईकोर्ट ने कहा कि इस तरह की चीजों (शादी की सूचना) को सार्वजनिक करना निजता और आजादी जैसे मौलिक अधिकारों का उल्लंघन है। इसके साथ ही यह अपनी मर्जी से जीवनसाथी चुनने की आजादी के आड़े भी आता है।

अदालत ने अपने फैसले में कहा, 'जो लोग शादी करना चाहते हैं, वे मैरिज अफसर से लिखित अपील कर सकते हैं कि 30 दिन पहले नोटिस को पब्लिश किया जाए या नहीं। अगर कपल नोटिस पब्लिश नहीं करना चाहता है तो मैरिज अफसर को ऐसा कोई नोटिस पब्लिश नहीं करना चाहिए। साथ ही इस पर किसी भी तरह की आपत्ति पर ध्यान नहीं देना चाहिए। उसे इस शादी को विधिवत पूरा करवाना चाहिए। हां, मैरिज अफसर इस एक्ट के तहत किसी भी शादी को वैधता देते वक्त उम्र, पहचान और राजीनामे संबंधी जांच कर सकता है। अगर उसे इस संबंध में किसी भी तरह का शक है तो वह उपयुक्त जानकारी और सबूत मांग सकता है।'

क्या है स्पेशल मैरिज एक्ट 1954?
इस कानून के तहत दो अलग-अलग धर्म के लोग अपने धर्म को बदले बिना रजिस्टर्ड शादी कर सकते हैं। इसके लिए एक फॉर्म भरना होता है और मैरिज रजिस्ट्रार के पास जमा कराना होता है। शादी से 30 दिन पहले रजिस्ट्रार के पास नोटिस देकर जोड़े को बताना होता है कि वे शादी करने वाले हैं। यह नोटिस छापा जाता है। इसके छपने के बाद अगर रजिस्ट्रार के पास किसी तरह की कोई आपत्ति नहीं आती है तो जोड़े शादी के लिए आवेदन करते हैं।


यूपी के हर क्षेत्र में तेजी से विकास हो रहा है : लल्लू सिंह

यूपी के हर क्षेत्र में तेजी से विकास हो रहा है : लल्लू सिंह

अयोध्या: सांसद लल्लू सिंह ने कहा कि आज बड़े गौरव का दिन है प्रदेश का हर जनपद उत्तर प्रदेश दिवस के रूप में मना रहा है। उत्तर प्रदेश गठन के पश्चात किसी भी सरकार ने अपने इस गौरव पूर्ण दिन को मनाने का ध्यान नहीं दिया।

उन्होंने कहा कि 4 वर्ष पूर्व प्रदेश सरकार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में बनी सरकार ने उत्तर प्रदेश के गौरव को पूरे भारत एवं विश्व पटल पर यादगार बनाने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश दिवस मनाने का निर्णय लिया गया। इसके माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों में उत्तर प्रदेश के गौरव को विश्व पटल पर स्थापित करने का उद्देश्य प्रमुख रूप से रहा है।

सांसद ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश के गठन के पश्चात पहली बार उत्तर प्रदेश में हर क्षेत्र में तेजी से विकास हो रहा है चाहे ग्रामीण क्षेत्र हो व शहरी क्षेत्र में आवास का निर्माण, सड़कों का जाल बिछाना हो, कृषि क्षेत्र में किसान भाइयों को अनुदान पर कृषि संयंत्र उपलब्ध कराना हो, कानून व्यवस्था, श्रमिकों का कल्याण, समाज कल्याण हो, सभी क्षेत्रों में प्रदेश कीर्तिमान स्थापित कर रहा है और इसका सारा श्रेय भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ तथा उन योजनाओं को लागू करने एवं समय-समय पर समीक्षा करने वाले अधिकारियों को जाता है। जनमानस का साथ मिलता रहा तो निश्चित रूप से भविष्य में हमारा प्रदेश उत्तर प्रदेश को मॉडल के रूप में भी जाना जाएगा।

उत्तर प्रदेश का गौरवशाली इतिहास रहा है: वेद प्रकाश गुप्ता
अयोध्या विधायक वेद प्रकाश गुप्ता ने अपने संबोधन में कहा कि हमें गर्व है कि हम उत्तर प्रदेश के निवासी हैं। यह गौरव का बोध हम सबको इसके लिए हम सबके प्रेरणास्रोत उत्तर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रत्येक 24 जनवरी को यूपी दिवस मनाने का संकल्प लिया और कहा कि संकल्प से सिद्वि की ओर अग्रसर उत्तर प्रदेश। साथ ही हम सबको कार्य करने हेतु मंत्र दिया-नवनिर्माण, नौवोत्थान, नव कार्य-सांस्कृति। उत्तर प्रदेश का अपना गौरवशाली इतिहास रहा है।

उन्होंने कहा कि 97 हजार गांव, 700 से अधिक नगर, 80 सांसद, 403 विधायक, 70 फीसदी साक्षरता दर, सबसे बड़ा हाईकोर्ट, एशिया की सबसे बड़ी परीक्षा संस्था माध्यमिक शिक्षा परिषद, जमीदारी, उन्मूलन, मण्डल आंदोलन आदि से अपनी विशिष्ट पहचान रखने वाले उत्तर प्रदेश ने श्रीराम, कृष्ण, गौतमबुद्व समेत विभूतियों के माध्यम से पूरी दुनिया में मानवता का संदेश दिया है। अयोध्या के दिव्य व भव्य दीपोत्सव, बरसाने की होली, प्रयाराज के अविस्मरणीय कुम्भ के विशेष आयोजन ने हमारी सभ्यता व सांस्कृतिक को वैश्विक स्तर पर पहचान दिलायी है, हम सभी का गौरव बढ़ाया है।

”कोरोना महामारी का भी सभी ने डटकर सामना किया”
विधायक ने आगे कहा कि कोरोना महामारी का भी हम सभी ने डटकर सामना किया, देश की सबसे ज्यादा आबादी वाला प्रदेश होने के बाद भी कोरोना के मरीजों की संख्या अन्य प्रदेशों की तुलना में कम रही। कोरोना महामारी के समय कोई भी व्यक्ति भूखा नही रहा, जो सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों व सामाजिक संगठनों की नैतिक जिम्मेदारियों के कारण सम्भव हो सका। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के यशस्वी नेतृत्व में भारत में स्वदेशी बैक्सीन बनी जो स्वालम्बन व आत्मनिर्भर भारत की देन है। ब्राजील, भूटान, नेपाल, बांग्लादेश, मारीशस आदि पड़ोसी देशों को भी बैक्सीन देकर आत्मनिर्भर भारत को वैश्विक मान्यता दी गयी।

वेद प्रकाश गुप्ता ने कहा कि सशक्त नारी सम्मान अधिकार चुनाव के समय हमारी सरकार का संकल्प था। जिस संकल्प को पूरा करने के लिए यशस्वी मुख्यमंत्री योगी जी द्वारा ऐतिहासिक कदम उठाये गये है। एन्टीरोमियो स्क्वायर्ड, 181 वूमेन हेल्पलाइन, आशा ज्योति केन्द्रों, महिला स्वास्थ्य परीक्षण, मातृत्व सेवा सम्मान जैसी अनेक योजनाएं महिला सशक्तीकरण में अहम भूमिका निभा रही है।

उन्होंने कहा कि अयोध्या पर्वो की, ज्ञान की, साहित्य की, कला की, सांस्कृतिक की और विशेष रूप से श्रीराम की नगरी है। राम जन्मोत्सव, झूलनोत्सव जैसे उत्सवों से गुंजायमान रहने वाली नगरी योगी जी की प्रेरणा से सम्पूर्ण विश्व में दीपोत्सव की नगरी के रूप में जानी जाने लगी है। प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण का राम भक्तों का स्वप्न साकार हो रहा है। आज इस अवसर पर हम सब मिलकर संकल्प लें कि अपने प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने में अपना पूर्ण सहयोग करेंगे। अपनी अवध की धरती को स्वच्छ व सुन्दर बनायेंगे, के साथ अपना उद्बोधन समाप्त किया।

”प्रदेश को शिखर पर पहुंचाना है”
जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने अपने संबोधन में कहा कि हम सभी को मिलजुल कर प्रदेश को शिखर पर पहुंचाना है। नीतियों योजनाएं को सरकार/शासन के उच्चाधिकारियों के मार्ग निर्देशन में ग्रामीण क्षेत्रों के अंतिम व्यक्ति तक उसका लाभ प्रदेश के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी समन्वय स्थापित कर पहुंचाते हैं। वर्तमान में पूरे प्रदेश में मुख्यमंत्री जी के मार्गदर्शन में अधिकारियों की एक अच्छी टीम कार्य कर रही है।

कार्यक्रम में मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार, जिला विकास अधिकारी हवलदार सिंह, बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष देव पांडेय, समाज कल्याण अधिकारी अमित सिंह, उपायुक्त उद्योग सहित जिला पंचायत से अविरल, जिला समन्वय उपस्थित थे।


25 जनवरी 2021 का राशिफल: मकर राशि वालों के चल या अचल संपत्ति में वृद्धि होगी, लेकिन...       Share Market Tips: बजट से पहले भी बाजार में आ सकती है अच्छी खासी गिरावट       नई शिक्षा नीति पर अमल को सरकार दे सकती है अलग से फंड, शिक्षा मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय को दिया है प्रस्ताव       Post Office के सुकन्या समृद्धि, आरडी और पीपीएफ खाते में ऑनलाइन जमा कर सकते हैं रुपये, जानें       Yes Bank के संस्थापक राणा कपूर को हाई कोर्ट से भी नहीं मिली जमानत       बैंक के नाम पर आने वाले फर्जी मैसेज की कैसे करें पहचान       गिर गई सोने की कीमतें, चांदी में आई उछाल, जानिए क्या हो गए हैं भाव       Home First Finance के IPO को मिला अच्छा-खासा समर्थन, बोली के आखिरी दिन तक हुआ 26.57 गुना सब्सक्राइब       इंग्लैंड ने भारत को छोड़ा पीछे, टेस्ट सीरीज में श्रीलंका का क्लीन स्वीप कर बनाया ये रिकॉर्ड       पाकिस्तान के पूर्व बल्लेबाजी कोच ने की रिषभ पंत की तारीफ, कही...       ऑस्ट्रेलिया के इस दिग्गज तेज गेंदबाज पर टीम से बाहर होने का खतरा       IPL की वजह से हुआ बदलाव, ICC ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल किया स्थगित       भारतीय स्पिनर का खुलासा, ऑस्ट्रेलिया दौरे पर हुआ भेदभाव, नहीं थी उनके साथ लिस्ट में जाने की अनुमति       गणतंत्र दिवस के मौक़े पर आयी फ़िल्मों ने जब बॉक्स ऑफ़िस पर भी मचाया धमाल       The Family Man के मेकर्स के साथ ओटीटी डेब्यू के लिए तैयार शाहिद कपूर       शेखर कपूर ने कहा कि फूलन ने बैंडिट क्वीन देखकर कहा था कि मुझे लगा फिल्म में गाने होंगे       इस एक्टर की दुल्हनियां बनी नताशा दलाल, अब इस दिन होगा वरुण नताशा का ग्रैंड रिसेप्शन       Republic Day 2021: देशभक्ति से जुड़े ये गाने आपकी भी आंखें कर देंगे नम       शादी के बाद वरुण धवन ने शेयर कीं अपनी हल्दी सेरेमनी की फोटोज़, देखें एक्टर का कूल अंदाज़       Republic Day पर लौट रही है विक्की कौशल की 'उरी- द सर्जिकल स्ट्राइक', सिनेमाघरों में फिर गूंजेगा Hows The Josh