जिम्बाब्वे के दिग्गज खिलाड़ी ने किया संन्यास का एलान, आज खेलेगा आखिरी मैच

जिम्बाब्वे के दिग्गज खिलाड़ी ने किया संन्यास का एलान, आज खेलेगा आखिरी मैच

जिम्बाब्वे की टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज ब्रेंडन टेलर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का एलान कर दिया है। ब्रेंडन टेलर जिम्बाब्वे की टीम के महान खिलाड़ियों में शामिल हैं। 2004 से इंटरनेशनल क्रिकेट खेल रहे ब्रेंडन टेलर आज यानी सोमवार 13 सितंबर को अंतरराष्ट्रीय करियर को विराम देने जा रहे हैं। इस बात का खुलासा खुद उन्होंने ट्विटर के जरिए किया है।

ब्रेंडन टेलर आज यानी सोमवार 13 सितंबर को आयरलैंड के खिलाफ होने वाले मैच में आखिरी बार इंटरनेशनल क्रिकेट में मैदान पर उतरेंगे। ब्रेंडन टेलर ने ट्विटर पर एक तस्वीर के साथ अपना बयान भी शेयर किया है और लिखा है, "भारी मन से मैं यह घोषणा कर रहा हूं कि कल(13 सितंबर) मेरे प्यारे देश के लिए मेरा आखिरी मैच है। 17 साल के उच्च और अत्यधिक उतार-चढ़ाव देखने के बाद भी मैं इसे दुनिया के लिए नहीं बदलूंगा। इसने मुझे विनम्र होना सिखाया है, हमेशा खुद को याद दिलाना कि मैं कितना भाग्यशाली था कि मैं इतने लंबे समय तक जिस स्थिति में था, उस पर रहा। शान से टीम का बैज पहनना और सब कुछ मैदान पर किया।"


उन्होंने आगे लिखा, "मेरा लक्ष्य हमेशा टीम को बेहतर स्थिति में छोड़ना था, क्योंकि जब मैं पहली बार 2004 में टीम में आया था तो मुझे उम्मीद है कि मैंने ऐसा किया है। मैं दुनिया भर में मिली दोस्ती के लिए बहुत आभारी हूं, आप हमेशा मेरे साथ रहेंगे और मुझे उम्मीद है कि निकट भविष्य में फिर से रास्ते पार करेंगे। जिम्बाब्वे क्रिकेट को, अवसर के देने लिए धन्यवाद और मुझे आशा है कि मैंने अपने देश को किसी न किसी रूप में गौरवान्वित किया है।"

 
ब्रेंडन टेलर ने अपनी टीम के साथी कोच और परिवार वालों को भी धन्यवाद करते हुए कहा, "मेरे टीम के साथियों और कोचों (अतीत और वर्तमान) को मैं तहे दिल से धन्यवाद देता हूं। मैं आप सभी को कभी नहीं भूलूंगा। प्रशंसकों के लिए जो वर्षों से मेरे प्रति इतने वफादार रहे हैं। मैं सदा आभारी हूं। घर पर मेरे दोस्तों के लिए, मेरे माता-पिता डेबी वेकफील्ड टेलर मेरी सास गेल मेयर रीडिंग्स और मेरे सबसे अच्छे साथी मेरे दो भाई हैं, जो ग्रांट टेलर और कीगन टेलर के हर कदम पर मेरे साथ रहे हैं। बहुत - बहुत धन्यवाद। अंत में मेरी पत्नी केलीन टेलर और हमारे चार खूबसूरत लड़कों को। आपने इस यात्रा में मेरे लिए सब कुछ मायने रखा है और यह आपके बिना संभव नहीं होता। मैं अपने अगले अध्याय की प्रतीक्षा कर रहा हूं। मैं आप सभी से बहुत प्यार करता हूं।"

दाएं हाथ के बल्लेबाज ब्रेंडन टेलर ने 34 टेस्ट मैच, 204 वनडे इंटरनेशनल और 44 टी20 इंटरनेशनल मैचों में अब तक अपने देश का प्रतिनिधित्व किया है। टेस्ट क्रिकेट में वे 2320 रन बना चुके हैं, जबकि ODI क्रिकेट में उनके नाम 6677 रन बनाने का रिकार्ड है। इसके अलावा 859 रन उन्होंने टी20 क्रिकेट में भी बनाए हैं। वहीं, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वे 10 विकेट भी ले चुके हैं।


अगर रोहित शर्मा बने टी20 टीम के कप्तान, तो इस गेंदबाज को मिल सकती है उप-कप्तानी

अगर रोहित शर्मा बने टी20 टीम के कप्तान, तो इस गेंदबाज को मिल सकती है उप-कप्तानी

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने टी20 विश्व कप के बाद इस फार्मेट की कप्तानी छोड़ने की घोषणा कर दी है। उनके इस पद से इस्तीफा देने के बाद उप कप्तान रोहित शर्मा का कप्तान बनना तय माना जा रहा है। ऐसे में उप कप्तान के पद की भी दावेदारी सामने आ गई है। जानकारी के मुताबिक तीन धुरंधर खिलाड़ियों के नाम पर चर्चा शुरू हो चुकी है।

गुरुवार 16 सितंबर को भारतीय कप्तान कोहली ने एक बेहद अहम फैसला करते हुए टी20 टीम की कप्तानी को छोड़ने की खबर दी। इसी साल 17 अक्टूबर से 14 नवंबर के बीच बीसीसीआइ की मेजबानी में यूएई में खेला जाने वाला टी20 विश्व कप कोहली के कप्तानी करियर का पहला और आखिरी टी20 टूर्नामेंट साबित होने वाला है।

तीन नाम आए उप कप्तानी के लिए सामने


रोहित के टी20 टीम के कप्तान बनने के बाद उनकी जगह उप कप्तान कौन बनाया जाएगा इसको लेकर भी चर्चा शुरू हो चुकी है। पीटीआइ के मुताबिक रोहित के जोड़ीदार ओपनर केएल राहुल का नाम इस पद के लिए सामने आया है। वहीं विस्फोटक विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत भी उप कप्तान बनने की रेस में शामिल हैं। क्रिकेट के तीनों ही फार्मेट में अपनी धारदार गेंदबाजी के नाम कमाने वाले जसप्रीत बुमराह इस लिस्ट में शामिल तीसरे खिलाड़ी हैं।


केएल राहुल और रिषभ पंत को टी20 क्रिकेट में कप्तानी करने का अनुभव हो चुका है। बीसीसीआइ की घरेलू टी20 लीग इंडियन प्रीमियर लीग की फ्रेंचाइजी टीम पंजाब किंग्स की कप्तानी का जिम्मा राहुल के कंधे पर है। वहीं रिषभ पंत को दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी दी गई है। बतौर कप्तान और बल्लेबाज ये दोनों ही खिलाड़ी अपने आपको साबित कर चुके हैं। बुमराह के पास अनुभव काफी है जिसकी वजह से उनके उप कप्तान बनने की दावेदारी भी काफी मजबूत लग रही है।