2011 वर्ल्ड कप कथित फिक्सिंग केस में संगकारा देंगे बयान

2011 वर्ल्ड कप कथित फिक्सिंग केस में संगकारा देंगे बयान

कोलंबो: क्या वर्ल्ड कप 2011 (ICC World Cup 2011 Final) का फाइनल फिक्स था? क्या फाइनल में श्रीलंकाई टीम जानबूझकर हारी? इन गंभीर सवालों की जाँच श्रीलंकाई पुलिस ने कर दी है व बुधवार को उसने श्रीलंका के पूर्व महान खिलाड़ी अरविंद डिसिल्वा से पूछताछ की। खबरों के मुताबिक डिसिल्वा से 6 घंटे तक पूछताछ हुई। डिसिल्वा वर्ष 2011 में श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के सेलेक्शन पैनल के अध्यक्ष थे। श्रीलंका के पूर्व कैप्टन कुमार संगकारा को भी इस मुद्दे में बयान देने का आदेश दिया गया है।



संगकारा से मांगा गया बयान
श्रीलंका के पूर्व क्रिकेट कैप्टन कुमार संगकारा (Kumar Sangakkara) को खेल मंत्रालय की विशेष जाँच समिति के समक्ष बयान देने के लिये बोला गया है। यह समिति इन आरोपों की जाँच कर रही है कि हिंदुस्तान के विरूद्ध दुनिया कप 2011 का फाइनल फिक्स था जिसमें टीम को पराजय का सामना करना पड़ा था। श्रीलंका के खेल मंत्री ने पिछले महीने पूर्व खेल मंत्री महिंदानंदा अलुथगामगे के इन आरोपों की जाँच करने को बोला था कि 2011 दुनिया कप फाइनल में हिंदुस्तान के विरूद्ध राष्ट्रीय क्रिकेट टीम की पराजय को ‘कुछ पक्षों’ ने फिक्स किया था। संगकारा उस समय श्रीलंकाई टीम के कैप्टन थे।

लोकल खबर लेटर ‘डेली मिरर’ ने एसएसपी डब्ल्यूएजेएच फोनसेका के हवाले से बोला कि खेल मंत्रालय के विशेष जाँच विभाग ने संगकारा को बयान दर्ज कराने को बोला है। समाचार के अनुसार संगकारा को गुरुवार को प्रातः काल नौ बजे जाँच समिति के समक्ष बयान दर्ज कराने को बोला गया है। विशेष जाँच समिति ने श्रीलंका के महान बल्लेबाज अरविंद डिसिल्वा व उस मैच में पारी का आगाज करने वाले उपुल थरंगा के बयान भी दर्ज किए हैं। जाँच इकाई ने 24 जून को अलुथगामगे के बयान दर्ज किए थे जिन्होंने बोला था कि उनका शुरुआती बयान सिर्फ एक शक था जिसकी वह विस्तृत जाँच चाहते हैं।

संगकारा व जयवर्धने आरोपों को कर चुके हैं खारिज
बता दें संगकारा व महेला जयवर्धने 2011 वर्ल्ड कप फिक्स होने के आरोपों को मानने से इन्कार कर चुके हैं। संगकारा ने ट्वीट कर पूर्व खेल मंत्री को सलाह दी थी, 'उन्हें अपने ‘सबूत’ आईसीसी व करप्शन रोधी एवं सुरक्षा इकाई के पास लेकर जाने की आवश्यकता है जिससे कि दावे की विस्तृत जाँच हो सके। ' वहीं फाइनल मैच में शतक जड़ने वाले पूर्व कैप्टन जयवर्धने ने फिक्सिंग के आरोपों को चुनाव से प्रेरित बताया था। उन्होंने ट्वीट में पूछा था, 'क्या चुनाव होने वाले हैं?। जो सर्कस प्रारम्भ हुआ है वह पसंद आया नाम व सबूत?'