जानिए क्यों, इस खिलाड़ी का अनोखा बैट घर पर सजा कर रखते हैं सुरेश रैना

जानिए क्यों, इस खिलाड़ी का अनोखा बैट घर पर सजा कर रखते हैं सुरेश रैना

नई दिल्ली। टीम इंडिया के बाएं हाथ के बल्लेबाज व चेन्नई सुपरकिंग्स के मैच विनर सुरेश रैना (Suresh Raina) ने कई मैच जिताए हैं। रैना का बल्ला तो आईपीएल में रनों का अंबार लगाता है। हालांकि चेन्नई का ये बल्लेबाज अपनी टीम के एक साथी खिलाड़ी के बल्ले को अपने घर पर सजा कर रखता है, खुद रैना ने इसका खुलासा किया। दरअसल चेन्नई सुपरकिंग्स के ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें रैना ने बताया कि मैथ्यू हेडन (Matthew Hayden) का मोंगूज बैट (Mongoose Bat) उनके घर पर रखा हुआ है।

हेडन ने खेली थी मोंगूज बैट से तूफानी पारी
आईपीएल 2010 में चेन्नई सुपरकिंग्स की ओर से खेलते हुए मैथ्यू हेडन (Matthew Hayden) ने मोंगूज बैट का प्रयोग किया था। इस बल्ले से उन्होंने दिल्ली के विरूद्ध महज 43 गेंदों में 93 रन ठोक दिये थे व चेन्नई सुपरकिंग्स को धमाकेदार जीत मिली थी। सुरेश रैना ने हेडन की इस पारी को यादगार पारियों में से एक बताया।

सुरेश रैना ने हेडन से कहा, 'दिल्ली के विरूद्ध आपने जबर्दस्त पारी खेली थी। इसमें आपने 93 रन बनाए थे। मोंगूज बल्ले से खेली इस पारी के दौरान आपने हर गेंद मैदान के बाहर मारी थी। उस विकेट पर आपकी पारी इसलिए भी खास थी क्योंकि गेंद टर्न हो रही थी। दिल्ली ने 185-190 रन बनाए थे। हम दोनों की उस मुकाबले में शानदार साझेदारी हुई थी। मैं उस मैच में कप्तानी कर रहा था व मैंने 49 रन बनाए थे। आपने हमें भरोसा दिलाया कि हम वो मैच जीत सकते हैं। मेरे पास अब भी आपका वो मोंगूज बैट है जिसपर आपने ऑटोग्राफ भी दिया है। उम्मीद है कि आपको वो ऑटोग्राफ याद होगा। '

दलाई लामा से मिलना हेडन के ज़िंदगी का खास लम्हा
बता दें चेन्नई के ट्विटर हैंडल पर पोस्ट हुए वीडियो में हेडन (Matthew Hayden) ने खुलासा किया कि जब वो धर्मशाला में दलाई लामा से मिले थे, वो उनके ज़िंदगी का बेहद खास लम्हा रहा है। चेन्नई सुपर किंग्स के पूर्व सलामी बल्लेबाज हेडन को 2010 में धर्मशाला में किंग्स इलेवन पंजाब व चेन्नई टीम के बीच खेले गए मैच के दौरान दलाई लामा से मिलने का मौका मिला था। हेडन ने कहा, ' 2010 में मुझे दलाई लामा से मिलने का मौका मिला था। वो मेरी जिंदगी का शानदार लम्हा था, मुझे ऐसे आदमी से मिलने का मौका मिला जो कि बेहद ही खास था। धर्मशाला में हमने जीत भी हासिल की थी। 190 रनों का लक्ष्य हासिल करना था व धोनी ने 27 गेंदों में 54 रनों की पारी खेली थी। रैना ने 46 रन बनाए थे। '