IOA : दल प्रमुख करेंगे गेम्स विलेज में अनुशासनहीनता व तोड़फोड़ की जांच, जानें पूरी बात

IOA : दल प्रमुख करेंगे गेम्स विलेज में अनुशासनहीनता व तोड़फोड़ की जांच, जानें पूरी बात

भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) गेम्स विलेज (खेल गांव) में भारतीय खिलाड़ियों की अनुशासनहीनता व तोड़फोड़ की घटनाओं को गंभीरता से लेने वाला है। वाहिब टोक्यो ओलंपिक में दल प्रमुख (चेफ डि मिशन) को खिलाड़ियों के कमरों की जाँच की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

जानकारी के मुताबिक चेफ डि मिशन गेम्स विलेज में प्रवेश करने के दौरान व विलेज छोड़ने के दौरान कमरों की जाँच करेंगे। इसमें देखा जाएगा भारतीय खिलाड़ियों ने कहीं तोड़ फोड़ तो नहीं की है। दरअसल तोड़फोड़ के बदले आयोजकों की ओर से वजनदार जुर्माना लगाया जाता है जो संबंधित ओलंपिक संघ को भरना पड़ता है। आईओए ने सभी खेल संघों को चेतावनी जारी कर ओलंपिक के दौरान ऐसा नहीं करने की सलाह दी है।

खेल संघों को जारी की जुर्माने की सूची: जंहा इस बात पर आईओए ने बोला है कि ओलंपिक के दौरान चेफ डि मिशन आयोजकों के साथ मिलकर गेम्स विलेज में दल को आवंटित इन्वेंटरी की जाँच करेंगे। अगर इस दौरान तोड़ फोड़ या नुकसान सामने आता है तो आईओए पर वजनदार जुर्माना लगाया जाएगा। कितना जुर्माना लगाया जाएगा इसकी सूची भी खेल संघों को जारी कर दी गई है। हालांकि आईओए ने यह भी साफ किया है कि उनकी मंशा खिलाड़ियों में किसी तरह का भय फैलाने की नहीं है। उन्हें गेम्स विलेज में इन चीजों का ध्यान रखना होगा।

खेल संघों से वसूला जाएगा जुर्माना: रिपोर्ट्स के अनुसार इस बात इस बात को ध्यान में रखते हुए आईओए ने यह भी तैयारी कर ली है कि इस बार तोड़ फोड़ के चलते उनसे आयोजकों ने जुर्माना वसूला तो इसकी भरपाई संबंधित खेल संघों से की जाएगी। खेल संघ यह जुर्माना सीधे खिलाड़ी से वसूल सकते हैं।